AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 26 नवंबर 2018

थानाध्यक्ष से लेकर जिलाधिकारी तक को की शिकायत, नही की गयी कोई कार्यवाही

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता - एक सैनिक जो देश के लिए सरहरो पर परेशानियो का समना करता है और हम सुरक्षित रहते है लेकिन उसी सैनिक का परिवार शहर में अपने को असुरक्षित महसूस कर रहा है। बडी बात यह कि सैनिक की पत्नी व बहन द्वारा थाना व उच्च प्रशासनिक अधिकारियों से शिकायत व प्रार्थना करने के बावजूद भी कोई कार्यवाही नही की गयी और हद यह कि चैकी इंचार्ज ने पीडित के निर्माणाधीन मकान का जबरन काम रूकवा दिया। अब दबंग पीडित परिवार की महिलाओं को परेशान कर रहे है।
          कमलेश चन्द्र जो आर्मी में सूबेदार के पर पर तैनात है उनकी पत्नि निर्मला देवी तथा बहन आरजी नं0 593 ग्राम बैरी, अकबरपुर कछार में रहते है। पीडिता निर्मला देवी ने बताया कि उनके भवन का निर्माण कार्य चल रहा था लेकिन प्रशानत कटियार व नियम कटियार, शिवम दीक्षित आधा दर्जन से अधिक गुण्डे लेकर आये और उनकी दीवार गिरा दी तथा गेट उखाड किया साथ ही दुबारा निर्माण न करने को कहा। विरोध करने पर पीडित सैनिक की पत्नी तथा बहन को सरेआम मारा-पीटा, और जान-माल की धमकी देकर चले गये। पीडिता ने थाने में सूचना दी लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई। जिलाधिकारी को दिये गये शिकायतपत्र के बाद भी अभी तक कोई कार्यवाही नही हुई और लगातार उक्त दबंग उन्हे परेशान कर रहे है। रोज घर के बाहर आकर गाली-गलौज करते है। मजदूरो से मारपीट कर भगा देते है। कहा उनकी न तो स्थानीय थाना-चैकी स्तर पर सुनवाई हो रही है और न ही उच्चाधिकारी ध्यान दे रहे है। ऐसे में उन्हे आशंका जताई कि उनके व उनकी नन्द के साथ उक्त दबंग कुछ भी कर सकते है। सैनिक की पत्नी व बहन ने प्रशासन से फिर सुरक्षा और न्याय की गुहार लगायी है। यह हालत तब है जब एक जवान देश की सुरक्षा में लगा है लेकिन उसके परिवार की सुरक्षा कानपुर की पुलिस और प्रशासन नही कर पा रही है। निर्मला देवी ने कहा जिलाकिधाीर द्वारा निर्देश दिये गये थे कि उच्च न्यायालय के निर्देशो की अवहेलनान हो साथ ही शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के लिए कार्यवाही की जाये लेेकिन पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नही की जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट