AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 24 नवंबर 2018

जिलाधिकारी के फरमान के बाद भी ट्रकों में ओवरलोडिंग का सिलसिला जारी

फतेहपुर, शमशाद खान । जिलाधिकारी के साफ निर्देशों के बावजूद भी जनपद में ओवरलोडिंग रुकने का नाम नहीं ले रही है जबकि ओवरलोडिंग रोकने के लिए जिलाधिकारी आजनेय कुमार सिंह द्वारा 2 दिन पूर्व स्वयं ही सड़कों पर निकलकर ओवरलोड ट्रकों के खिलाफ कार्यवाही की थी। इतना ही नहीं क्षेत्राधिकारी नगर कपिल देव मिश्रा व यातायात प्रभारी आशीष सिंह द्वारा भी ओवरलोड ट्रकों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई गई थी। और जिलाधिकारी द्वारा इसके लिए पुलिस तथा आरटीओ को निर्देशित किया गया था कि ओवरलोडिंग पर पूर्णतया प्रतिबंध लगाया जाए और ओवरलोड के साथ चलने वाले वाहनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।लेकिन थानो व् चैकियों के सामने से निकलने वाले ओवरलोड वाहन डीएम के निर्देशो को मुह चिढाते नजर आते है।  जनपद में ओवरलोडिंग धड़ल्ले से की जा रही है और दिनदहाड़े शहर के मार्गों से होते हुए यह ओवरलोड ट्रक हाईवे पर जाते हुए दिखते हैं लेकिन इनको कोई रोकने वाला नहीं है। लोग बताते हैं कि जिस चैकी व थाना क्षेत्र से ओवरलोड ट्रकों को निकलना होता है वहां पर ट्रक चालकों द्वारा पहले से बैठे पुलिसकर्मियों के हाथों को गर्म कर दिया जाता है! जिसके बाद यह ट्रक आसानी से शहर के मार्गों पर फर्राटा भरते नजर आते हैं। शहर में इन दिनों ट्रकों द्वारा मोरंग की ओवरलोडिंग खुलेआम की जा रही है ट्रक चालक अपनी क्षमता से दोगुना माल को लाद कर मार्गों पर दौड़ते है। पुलिस पैसे की एवज में जिलाधिकारी व शासन के निर्देशों को ताक पर रखकर परमीशन दे देती है । विगत 2 दिन पूर्व जिलाधिकारी द्वारा की गई कार्रवाई से जहां ट्रक चालकों में हड़कंप मच गया था वहीं पुनः पैसों के लालच में पुलिस द्वारा ओवरलोडिंग की व्यवस्था दे दी जाती है ! ऐसा नहीं है कि सभी ट्रकों को पैसे ले कर छोड़ा जाता है कुछ ट्रक मालिक पहुंच वाले होते हैं जिनके ट्रको को पुलिस नहीं छूती और ऐसे ट्रक शहर में ओवरलोड के साथ आसानी से देखे जा सकते हैं। आज एक ऐसा ही नजारा जनपद के हुसेनगंज थाने क्षेत्र में देखने को मिला थाने के सामने से ओवरलोड ट्रक आसानी से निकलते देखे जा रहे थे।आखिरकार चाहे जो हो जनपद में इन दिनों जिलाधिकारी के निर्देशों को धता बताते हुए ओवरलोडिंग खुलेआम की जा रही है। अब देखना यह है कि जिलाधिकारी द्वारा इस पर क्या कार्रवाई की जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट