AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 29 दिसंबर 2018

जीआईसी के पूर्व छात्र व शिक्षको का मिलन का बना अद्भुत नजारा

फतेहपुर, शमशाद खान । राजकीय इण्टर कालेज में पुरा छात्र सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व महानिर्देशक होमगार्ड सूर्य कुमार शुक्ल व विशिष्ठ अतिथि जिला विद्यालय निरीक्षक महेन्द्र प्रताप सिंह ने शिरकत करते हुए माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। पुरा छात्र समागम में जीआईसी से शिक्षा हासिल कर अपनी प्रतिभा के बल पर प्रसिद्धि हासिल कर रहे छात्रों ने विद्यालय में बिताए अपने अनुभव साझा किये। वहीँ छात्रों ने गुरुजनों का माल्यार्पण कर आशीर्वाद हासिल किया। शिक्षा देने वाले गुरुजन अपने पूर्व छात्रों से मिले स्नेह से भाव विभोर दिखे। लम्बे अरसे के बाद एक दूसरे से मिले साथियो ने देखते ही उन्हें गले लगाकर स्वागत कर कुशलक्षेप पूछते रहे। प्रधानाचार्य राजकीय इण्टर कालेज उदय प्रभात की कड़ी मेहनत से पहली बार आयोजित हुए कार्यक्रम में पूर्व छात्र एक बार फिर से उसी रंग में रंग गये और यादो को हमेशा के लिये संजोकर रखने के लिये गुरुजनों के साथ फोटो व सेल्फी लेने में जुट गए। छात्रों द्वारा एक बार फिर से उसी बचपन में खो जाने की ललक देखने को तब मिली जब सभी पूर्व छात्र मंच के सामने कतारबद्ध उसी तरह खड़े हो गए जिस तरह छात्र जीवन के दौरान बच्चों द्वारा किया जाता रहा था तत्कालीन एनसीसी शिक्षक लोकेंद्र पाल सिंह द्वारा परेड कराने के साथ ही सभी छात्रों द्वारा प्रार्थना और राष्ट्रगान किया गया । दो दशक या इससे भी अधिक समय पहले रहे छात्रों द्वारा बिताए पलों को याद करते हुए पूर्व छात्रों की आँखे भर आयी। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि सूर्य कुमार शुक्ला ने कहा कि जनपद के ऐतिहासिक विद्यालय से शिक्षा हासिल करना गौरव की बात है विद्यालय के छात्र पुरे विश्व में देश और जनपद का नाम रोशन कर रहे है शिक्षा से ही समाज की बुराइओं को दूर किया जा सकता है साथ ही पूर्व शिक्षको द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किये गए कार्यो को याद करते हुए कहा कि शिक्षक कभी रिटायर नही होता बल्कि नौकरी से हटने के बाद भी सामाजिक कार्यो और लोगो को शिक्षित करने की बड़ी जिम्मेदारी अदा करने की चुनौती होती है।  साथ ही शिक्षित बेरोजगारो को उनके संगठन द्वारा रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाने का भरोसा जताया। पूर्व छात्रों को संबोधित करते हुए आयोजक उदय प्रभात ने कहा कि लगभग डेढ़ शतक पूर्व स्थापित विद्यालय का सबसे गौरवशाली इतिहास है विद्यालय से शिक्षित छात्र पूरी दुनिया में अपनी प्रतिभा के बल पर अपना लोहा मनवा रहे है। उन्होंने कहा कि विश्व में जीआईसी की पहचान इसी तरह बनाये रखने और गौरव के लिये उनके द्वारा निरन्तर कठिन परिश्रम किया जाता रहेगा इस मौके पर पूर्व शिक्षक अरबी सिंह, एसबी सिंह, सुभाष, लोकेंद्र पाल सिंह, नरपाल सिंह, सुरेंद्र सिंह, भाजपा नेता ज्ञानेंद्र सचान, नीतू मिश्रा, इरफान काजमी, जितेंद्र दीक्षित, बबलू मौर्य, मो शारिक, अंकुश श्रीवास्तव, समेत बड़ी संख्या में पूर्व शिक्षक व छात्र मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट