AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 2 दिसंबर 2018

कानपुर आये अखिलेश यादव ने भाजपा को लिया निशाने पर

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता - उ0प्र0 के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रविवार को कानपुर में कैंट स्थित शादी समारोह में शामिल होने के लिए आये। इस दौरान सपा के पूर्व नगर अध्यक्ष फजल महमूद के सिविल लाइन आवास पहंुचे जहां उन्होने नए वर-वधू को आर्शीवाद दिया। फजल महमूद ने कहा कि वह अखिलेश यादव के शुक्रगुजार है कि वह उनके आमंत्रण पर एक साधारण कार्यकर्ता के घर पधारे।
         अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा द्वारा जो भगवान की जाति का मामला उठाकर जनता को गुमराह किया जा रहा है वह इस लिए है कि चुनाव का समय नजदीक है और जनता को विकास के मुददे से भटकाया जा रहा है। शौचालय पर कहा कि कांग्रेस ने पहले एक गडढे वाला शौचालय बनाया था अब भाजपा दो गडढे वाला शौचालय बनवा रही है यह नही उन्होने चुटकी लेते हुए कहा कि जब वह कानपुर आयेगे तो उन्हे मैट्रो में घूमने का मौका मिलेगा लेकिन यहां अभी तक मेट्रो नही चल पाई। उन्होने कहा प्रदेश में जो एनकाउंटर हो रहे है वह फर्जी है। आरोप लगाया कि यवुाओं को जबरन अपराधी बनाया जा रहा है, जिसमें पश्चिम क्षेत्र को निशाने पर रखा गया है। जरूरतमंदो को सपना दिखाया जा रहा है जबकि गरीबो के लिए प्रदेश में आवास नही बन रहे है। लेकिन इन सब बातों के बीच जब राम मंदिर का मुद्दा उठाया गया तो अखिलेश चुप्पी साध गये।

कार्यकर्ताओं में नही आया सुधार

समाजवादी पार्टी में हमेशा किसी भी कार्यक्रम में अनुशासन हीनता देखने को मिलती है। बडे नेता के साथ फोटो खिचवाने के चक्कर में पदाधिकारी और कार्यकर्ता सारे नियमों को तोड देते है। यही एक बार फिर देखने को मिला अखिलेश यादव के साथ पार्टी कार्यकर्ता और उपस्थित युवाओं में फोटो खिंचाने की होड मची रही। कार्यकर्ताओं में धक्का-मुक्की भी हुई यहां तक अखिलेश के बाडीगार्डो ने कार्यकर्ताओं को कोहनी मार कर ढकेला फिर भी कार्यकर्ता नही माने। इसी बीच अखिलेश ने स्वयं स्थिति सफाली और कार्यकर्ताओं से लखनऊ आकर सेल्फी लेने का निमंत्रण दिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट