AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

गुरुवार, 6 दिसंबर 2018

हिन्दू महासभा ने उठायी आवाज मन्दिर नही तो सरकार नही

फतेहपुर, शमशाद खान । अखिल भारत हिन्दू महासभा द्वारा छः दिसम्बर को विजय दिवस के रूप में मनाते हुये जुलूस निकालकर अयोध्या में राम मन्दिर का निर्माण कराये जाने की मांग प्रधानमंत्री से करते हुये मन्दिर नही तो सरकार नही के नारेबाजी कर उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौपा। 
गुरूवार को अखिल भारत हिन्दू महासभा जिला इकाई द्वारा प्रदेश महामंत्री मनोज त्रिवेद्वी के नेतृत्व मे कैम्प कार्यालय में सैकडो कार्यकर्ताओ के साथ शहर के प्रमुख मार्गो में जुलूस निकालकर मन्दिर का निर्माण कराये जाने के लिये प्रधानमंत्री से मांग की। जिसके बाद जुलूस कलेक्ट्रेट पहुचा जहा सैकडो कार्यकर्ताओ व साधू-सन्तो ने नारेबाजी करते हुये मन्दिर निर्माण नही तो इस बार सरकार नही की आवाज बुलन्द की और प्रधानमंत्री के नाम सम्बोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी प्रेमप्रकाश तिवारी को सौपते हुये प्रधानमंत्री से मांग किया कि मन्दिर निर्माण हेतु शीतकालीन सत्र में अध्यादेश लाकर कानून बनाया जाये। जिससे श्रीराम मन्दिर का निर्माण भव्य रूप से हो सके तत्पश्चात पटेल नगर चैराहा स्थिति संकट मोचन हनुमान मन्दिर के महासभा के कार्यकर्ताओ ने छः दिसम्बर को विजय दिवस मनाते हुये भगवान की आरती करके मन्दिर निर्माण हेतु पूजा प्रार्थना की गयी जिसके बाद गोष्ठी के माध्यम से राम भक्तो ने मन्दिर निर्माण हेतु अपने-अपने विचार व्यक्त किये। वही प्रदेश महामंत्री मनोज त्रिवेद्वी ने कहा कि भाजपा राममन्दिर का निर्माण कराने का वादा करके सत्ता में आयी थी लेकिन पूर्ण बहुमत सरकार के बाद चार वर्ष से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी सरकार राम मन्दिर निर्माण को भूल गयी है। इसीलिये हिन्दू महासभा ऐलान करती है कि यदि सरकार इस सत्र में अध्यादेश नही लाती तो साधू-सन्तो व सभी धर्म के लोगो के सर्वसहमति से मन्दिर निर्माण का फैसला करेगी। 18 दिसम्बर संसद पर बिशाल जनसभा का आयोजन करेगी और राष्ट्रीय अध्यक्ष के नेतृत्व में अनिश्चित कालीन धरना करने पर बाध्य होगे। इसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। इस मौके पर जिलाध्यक्ष रामगोंपाल शुक्ला, स्वामी रामआसरे आर्य, विवेक मिश्रा, सन्तोष गुप्ताा, मोनू गुप्ता, सूरज शुक्ला, देवनारायण, शिवसंकर, रामकिशोर, उमादेवी, माधुरी, शारदा, सुनैना, संगीता राजरानी, देवराज, गीता, माया, शिवाकान्त तिवारी, महेश अवस्थी, सुनील सिंह, अतुल दीक्षित आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट