AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 28 जनवरी 2019

सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ जनवादी पार्टी ने दिया धरना

फतेहपुर, शमशाद खान । देश के किसानों की हालत बद से बदतर होने, मतदाताओं को पेंशन दिये जाने सहित अन्य दस सूत्रीय मांगों को लेकर सोमवार को जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट) के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने नहर कालोनी में धरना प्रदर्शन किया। तत्पश्चात कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी के माध्यम से प्रदेश के राज्यपाल व मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर सभी मांगों को शीघ्र पूरा किये जाने की आवाज बुलन्द की। कार्यकर्ताओं का कहना रहा कि यदि मांगे शीघ्र पूरी न की गयी तो आगामी लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी इसका परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे। 
जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट) के जिलाध्यक्ष राजकरन सिंह चैहान की अध्यक्षता में नहर कालोनी परिसर में पार्टी कार्यकर्ताओं ने एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन किया। धरने में मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश अध्यक्ष मन्नी सिंह चैहान ने शिरकत की। धरने को सम्बोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी द्वारा उठायी गयी मांगों पर यदि भाजपा विचार करके अनुपालन नहीं करती है तो इसका परिणाम लोकसभा चुनाव में भाजपा को भुगतना होगा। उन्होने कहा कि देश एवं प्रदेश के किसानों की हालत बद से बदतर हो गयी है। लेकिन सरकार द्वारा अब तक कोई उचित कदम नहीं उठाये गये। धरने के पश्चात सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट पहुंचे और राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री को सम्बोधित दस सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। जिसमें मांग की गयी कि देश के पिछड़ों, दलितों एवं गरीबों के साथ सामाजिक न्याय के सिद्धान्त के आलोक में संसद में अध्यादेश लाकर पचास प्रतिशत आरक्षण के दायरे को बढ़ाकर न्याय किया जाये। सम्राट पृथ्वी राज सिंह चैहान की अस्थियों को भारत लाकर संगम में प्रवाहित करके दिल्ली में उनके नाम से भव्य स्मारक बनवाया जाये। सवर्णों को दिया गया आरक्षण तत्काल प्रभाव से वापस लिया जाये। देश एवं प्रदेश के विभिन्न विभागों में खाली पदों को पारदर्शी नीति बनाकर भरा जाये जिससे बेरोजगारी की समस्या कम हो सके। किसानों की स्थिति सुधार के लिए उनकी फसलों का समर्थन मूल्य निर्धारित कर गन्ना सहित अन्य फसलों का मूल्य समय से भुगतान किया जाये। किसानों के बच्चों के सर्वांगीण विकास हेतु शिक्षा भविष्य निधि और अन्य सुविधाएं सरकारी कर्मचारियों की तरह प्रदान की जाये। कर्पूरी फार्मूले के आधार पर बिहार की तर्ज पर प्रदेश के पिछड़ी जाति के आरक्षण का बटवारा सम्यक हिस्सेदारी के आधार पर अतिशीघ्र अलग किया जाये। देश में बढ़ती महंगाई में गरीबों व किसानों की कमर तोड़ दी है। इस क्रम में पेट्रोलियम उत्पादों के साथ अन्य वस्तुओं के दाम को कम करके देश की जनता को राहत प्रदान की जाये। सभी मतदाताओं को मतदाता पेंशन दी जाये। महिलाओं पर हो रहे अत्याचार एवं समाज में व्याप्त दबंगई के माहौल को समाप्त कर कानून व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। इस मौके पर श्रीकेशन, जगदीश सिंह, भिखारी सिंह, शिवनन्दन सिंह, राम सुमेर, रामचन्द्र सिंह, बाबू सिंह, अमृतलाल, राम प्रताप सिंह, देशराज सिंह, सत्य प्रकाश, गोरेलाल सिंह, ज्ञान सिंह, कृष्ण कुमार, अरूण सिंह, केशव सिंह, राजू, रोहित, रानी देवी, राम कुमारी, सुमित्रा, ममता देवी, सतीश कुमार सिंह, गंगा सागर, संतराम, जवाहरलाल आदि मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट