AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

गुरुवार, 31 जनवरी 2019

ओएसडी के औचक निरीक्षण से सदर अस्पताल के चिकित्सकों के छूटे पसीने

फतेहपुर, शमशाद खान । सरकार द्वारा गरीबो के स्वास्थ्य सम्बंधित दी जा रही सुविधाओं और गरीबो को जमीनी स्तर पर शासन की योजनाओं का कितना लाभ मिल रहा है इसकी जानकारी लेने के लिये स्वास्थ मंत्री डा सिद्धार्थ नाथ सिंह के ओएसडी डा मनीष श्रीवास्तव ने गुरुवार को जिला चिकित्सालय का आकस्मिक निरीक्षण कर स्वास्थ्य सुविधाओ को परखते हुए अव्यवस्था पाये जाने पर मातहतों को कड़ी फटकार लगाई। स्वास्थ मंत्री के ओएसडी डा मनीष श्रीवास्तव ने महिला वार्ड,पुरुष वार्ड, जच्चा बच्चा वार्डो का निरीक्षण किया। प्रसूताओं को मिलने वाली दवाइयों व दिए जाने वाले भोजन की जानकारी की तो वहीँ शौचालयो का निरीक्षण कर साफ सफाई देखी भी देखी। कई जगह खामी पाये जाने पर कर्मियों को कड़ी फटकार लगाते हुए सुविधाओ को दुरुस्त करने को कहा। रसोई घर औषधि भण्डारण समेत अन्य जगहों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। अचानक मंत्री के ओएसडी का सदर अस्पताल का दौरा करने की सूचना जैसे ही स्वास्थ महकमे के अफसरो व कर्मचारियो में मिली उनमें हड़कंप मच गया। आनन फानन में सब कुछ ठीक किया जाने लगा। ओएसडी द्वारा अस्पताल का निरीक्षण करने के उपरान्त ट्रामा सेंटर का रुख किया जहां ड्यूटी पर तैनात डॉक्टरों व फार्मासिस्ट से इमरजेंसी में मरीजों को दी जाने वाली दवाइयों के बाबत जानकारी हासिल की साथ ही ड्यूटी पर तैनात कर्मियों की उपस्थिति समेत अन्य अभिलेख तलब किये। उपस्थिति में संविदा फार्मेसिस्ट के अनुपस्थित पाये जाने पर सीएमएस से छुट्टी सम्बंधित अभिलेख तत्काल दिखाने को कहा। अचानक हुए निरीक्षण और दस्तावेजों को मांगे जाने पर सीएमओ डा उमाशंकर पाण्डेय व सीएमस डा विवेक कुमार निगम समेत अन्य अफसरो के माथे पर ठण्ड के मौसम में भी पसीने की बूंदे दिखने लगी ओएसडी के सवालों का जवाब देने में असहज जिम्मेदार बगले झांकने पर मजबूर हो गये। ट्रामा सेन्टर का बारीकियों से निरीक्षण के बाद अस्पताल का अन्य जगहों का भी बारीकी से निरीक्षण कर खामियों को परखा। जगह जगह गन्दगी व अव्यवस्था देख ओएसडी डा मनीष श्रीवास्तव का पारा सातवे आसमान में चढ़ गया। इस दौरान सीएमएस, सीएमओ समेत कर्मचारियों को जमकर फटकार लगाते हुए अधीनस्थो को सुधर जाने की चेतावनी देते हुए कहा कि किसी भी दशा में लापरवाही बर्दाश्त नही की जायेगी। ओएसडी के वापस चले जाने पर स्वास्थ महकमे के अफसरो व कर्मचारियो ने राहत की सांस ली।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट