AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

गुरुवार, 3 जनवरी 2019

विद्युत विभाग की लापरवाही से बेजुबान पक्षी गवां रहे जान

फतेहपुर, शमशाद खान । बिजली विभाग द्वारा बरती जा रही लापरवाही का शिकार अक्सर इंसानो को बनना पड़ता है। कभी जर्जर, ढीले व खेतो में टूटे हुए तार इंसानो की जान लेने की वजह बनते है तो कभी ट्रांफार्मर, मगर विद्युत विभाग की लापरवाही का खामियाजा अब बेजुबान पंक्षियों को भी भुगतना पड़ रहा है। शहर के शांतिनगर स्थित बाईपास के निकट विद्युत विभाग के खंभों के ढीले तारो पर आश्रय लेने वाले पंक्षियों को विद्युत विभाग की लापरवाही का खामियाजा अपनी जान देंकर चुंकाना पड़ रहा है। अपनी लम्बी उड़ान के बाद आश्रय लेने वाले पक्षियों को शायद यह नही पता होता की वह किस जगह पर अपना बसेरा करना चाह रहे है लेकिन थकान के कारण पंक्षी बिजली के खम्बो के बीच ढीले और जर्जर तारो पर जैसे ही बैठते है और मामूली सी हवा का झोंका आते ही खम्भो के बीच के दोनों तारो के सम्पर्क में आ जाते है जिससे पल भर में उनकी दर्दनाक मौत हो जाती है। पिछले काफी समय से सामाजिक संगठनों द्वारा मांग किये जाने के बाद भी निरंकुश बिजली विभाग द्वारा उन जर्जर तारो को सही नही किया गया जिससे मासूम बेजुबानों की मौत होना लगातार जारी है। स्थानीय निवासियों व समाजसेवियों की माने तो प्रतिदिन लगभग एक से दो दर्जन तक गौरैया, कबूतर, कव्वो समेत अन्य प्रवासी पक्षियों को अपनी जान गवानी पड़ रही है। यदि विभाग जल्द ही तारो को दुरुस्त नही करता तो ठण्ड के दिनों में पक्षियों की मौत की संख्या में इजाफा भी हो सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट