AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 3 मार्च 2019

वैश्य समाज की गोष्ठी 16 को, राजनैतिक भूमिका पर होगी चर्चा

फतेहपुर, शमशाद खान । अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद के तत्वाधान में आगामी 16 मार्च को गोष्ठी का आयोजन किया जायेगा। जिसमें परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा0 सुमन्त गुप्त, युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज गुप्त व अयाह-शाह विधायक विकास गुप्ता का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। गोष्ठी में वैश्य समाज की राजनैतिक परिदृश्य में भूमिका पर विस्तार से चर्चा की जायेगी। यह निर्णय परिषद की बैठक में लिया गया। 
परिषद की एक बैठक चैक स्थित एक मैरिज हाल में सम्पन्न हुयी। बैठक की अध्यक्षता करते हुए परिषद के जिलाध्यक्ष राम प्रकाश गुप्त ने कहा कि वर्तमान समय राजनैतिक दृष्टि से बहुत ही अहम है। निकट ही लोकसभा का चुनाव भी संभावित है। ऐसी परिस्थिति में वैश्य समाज की राजनैतिक दृष्टि से क्या भूमिका होनी चाहिए उसके लिए सभी वैश्य उपवर्गों के साथ बैठकर रणनीति बनायी जायेगी। बैठक में उपस्थित परिषद के राष्ट्रीय सचिव विनोद कुमार गुप्त ने कहा कि वैश्य समाज विभिन्न उपवर्गों में बंटे होने के कारण यह समाज राजनैतिक दृष्टि से अपेक्षित मुकाम हासिल नहीं कर पाया है। ऐसी परिस्थिति में समाज के लोगों को एकजुट होने की जरूरत है। तभी राजनीति के क्षेत्र में वैश्य समाज अपना स्थान हासिल कर पायेगा। युवा राष्ट्रीय महासचिव अरूण जायसवाल व युवा जिलाध्यक्ष शैलेन्द्र शरन सिम्पल ने संयुक्त रूप से कहा कि उक्त हुंकार गोष्ठी में युवाओं को अधिक से अधिक सहभागिता सुनिश्चित करने के उद्देश्य से सम्पर्क अभियान अभी से प्रारम्भ करना होगा। बैठक का संचालन करते हुए परिषद के जिला महामंत्री अमित शिवहरे ने कहा कि आगामी 16 मार्च को वैश्य राजनैतिक हुंकार गोष्ठी को सफल बनाने के लिए अभी से सभी पदाधिकारी सक्रिय हो जायें और प्रत्येक वैश्य परिवारों से सम्पर्क करते हुए गोष्ठी में उपस्थित होने के लिए प्रेरित करें। बैठक में राजेश गांधी को परिषद का संरक्षक मनोनीत किया गया। जिनका करतल ध्वनि से उपस्थित लोगों ने स्वागत किया। इस मौके पर रामस्वरूप गुप्त, बद्री विशाल गुप्त, साजन गुप्त, अमित शरन बाबी, विनय शरन गुप्त, आशीष अग्रहरि, संतोष गुप्त, सत्येन्द्र अग्रहरि, प्रमोद गुप्ता, गुड्डू मोदनवाल, विनोद मोदनवाल, सतीश साहू, साजन गुप्त, वेद प्रकाश गुप्त, बद्री विशाल आदि मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट