AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 11 मार्च 2019

निर्वाचन सम्बन्धी कार्यों को ईमानदारी व शुचिता के साथ सम्पन्न करायें अधिकारी - डीएम

फतेहपुर, शमशाद खान । कलेक्ट्रेट स्थित महात्मा गांधी सभागार में जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी संजीव सिंह ने निर्वाचन सम्बन्धी बैठक अधिकारियों से साथ की। उन्होने बताया कि जनपद में 06 मई को मतदान की तिथि घोषित की गयी है। जिन अधिकारियों को निर्वाचन सम्बन्धी कार्य सौपें गये है उनमें शुचिता बनाये रखते हुए लगन और ईमानादरी से कार्य करें। चुनाव की घोषणा होते ही एमसीसी के अनुपालन हेतु फ्लाइंगस्काट एवं वीडियो निगरानी का कार्य प्रारम्भ हो गया है। कार्य सम्पन्न कराने हेतु सभी अपनी ट्रेनिंग लेकर ही रवाना होंगे। प्रत्येक तहसील में तीन-तीन टीमे लगायी गयी है। जो 24 घण्टे में बदलकर ड्यूटी आपसी सहयोग की भावना से की जाय। दो बैटरियांे के साथ फोटोग्राफर भी टीम के साथ रहेगा। उन्होने कहा कि यदि क्षेत्रों में कोई रैली या सभा होती है तो पहले पंडाल की लम्बाई चैडाई, फर्नीचरों की संख्या, वाहनों, पंडाल में बैठे व्यक्तियों की संख्या व जन सभा के भाषण की वीडियोंग्राफी करायी जाय। चुनाव अवधि में वाहनों की चेकिग के दौरान जो भी धनराशि या चुनाव सम्बन्धी कोई बिना ब्यौरा मिलता है तो सुसंगत धाराओं में कार्यवाही की जाय। उन्होने कहा कि प्रशिक्षण के बाद जिला पूर्ति अधिकारी से सम्पर्क स्थापित कर वाहन प्राप्त कर ले। इसमें लोकेशन हेतु जीपीएस सिस्टम लगा रहेगा तथा वाहन की लाॅग बुक प्रतिदिन कम्पलीट की जाय। अपर जिलाधिकारी ने कहा कि गठित टीमे एमसीसी का अनुपालन करें। नामाकंन के पहले कोई पार्टी का व्यक्ति प्रचार नही कर सकता। इसके पूर्व प्रचार की कोई अनुमति नही होगी। परमीशन के बाद ही वाहन का प्रयोग किया जायेगा। परमीशन परमिट को वाहन के सामने वाले सीसे मे चस्पा किया जायेगा। सूचना मिलने पर 15 मिनट में पहुॅचना होगा और 30 मिनट के अन्दर कार्यवाही करके सूचना उपलब्ध करायेंगे। उक्त टीमों के अलावा बैरियर में भी टीम लगायी जायेगी। जो निरंतर वाहनों की चेकिंग करेंगी। मुख्य कोषाधिकारी ने बताया कि 10 लाख से ऊपर का कैश मिलने पर इनकम टैक्स विभाग को भेजना होगा। उनके द्वारा जाॅच की जायेगी। उन्होने कहा कि पकडे गये पोस्टर, बैनर में मुद्रित मालिका का नाम, फोन नम्बर व प्रतियाॅ होना आवश्यक है। विवरण न मिलने पर तत्काल जब्त कर लिया जाय। यदि वाहन में महिला का पर्स चेक किया जाना है तो महिला पुलिस ही चेक करेंगी तथा कार्यवाही की रिपोर्ट समय से भेजी जाय। इस अवसर पर सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहें।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट