AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शुक्रवार, 15 मार्च 2019

महिलायें होली को लेकर चिप्स पापड़ बनाने मे हुयी व्यस्त

फतेहपुर, शमशाद खान । होली पर्व नजदीक आते ही घरों सहित बाजारों में रौनक दिखाई देने लगी है। घर-घर महिलाएं जहां चिप्स-पापड़ बनाने में व्यस्त हैं। वहीं बाजारों में भी रेडीमेड सामानों की दुकानें सज गयी हैं। उधर महंगाई के कारण इस बार चिप्स-पापड़ बनाने का काम महिलाएं कम कर रही हैं। महिलाओं का कहना है कि मेहनत करने से अच्छा है कि बाजार से ही रेडीमेड वस्तुओं की खरीददारी कर ली जाये। उधर कुछ महिलाओं का कहना रहा कि घर पर बने चिप्स-पापड़ की बात ही कुछ और है। सेहत पर भी इसका बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। इसलिए वह घर पर ही चिप्स-पापड़ बनाने का काम करती हैं। 
फागुन के महीने में होली के रंग बाजारो से लेकर घरो तक दिखाई पडने लगता है। इस दौरान होली की तैयारी में घरो की ग्रहणियां जरूरी काम निपटाकर व्यंजनो की तैयारी में लग जाती है। आलू के चिप्स, पापड सहित अनेकों पकवान मेहमानो के लिये घरो की महिलायें बनाने लगती है। वही इस बार आलू महंगा होने के कारण महिलाएं थोड़ा नाखुश हैं। क्योकि इस पर्व पर आलू से कई प्रकार के खाने की चीजे तैयार की जाती है। महिलाएं तैयारी अधूरी नही छोडना चाहती है। गृहणियों का कहना है कि बाजारो मे मिलने वाले चिप्स महंगे होने के साथ-साथ अच्छी क्वालिटी के नही होते। इसीलिये घर में ही चिप्स पापड बना रहे हैं वही दूसरी तरफ बच्चे अपने अभिभावको से मनपसन्द रंग पिचकारी की डिमांड करने के साथ खरीदना भी शुरू कर दिया है। होली से पहले घरो में चिप्स और आलू के पापड बनाने का दौर शुरू हो चुका हैं। गृहणियों के चेहरो पर खुशी कम दिख रही है। क्योंकि होली के पहले आलू तीस रूपये का पाच किलो बिक रहा था। लेकिन पर्व के नजदीक आते-आते यही आलू अब दस रूपये किलो बिक रहा है। होली के समय आवक तो अचानक बढेगी लेकिन मांग कम हो जायेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट