AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 16 मार्च 2019

बाजार में खोया व खाद्य सामग्री की जमकर हो रही बिक्री

फतेहपुर, शमशाद खान । होली का त्योहार नजदीक आते ही जहां किराना दुकानदारों ने नकली व मिलावटी खाद्य सामग्री से दुकानों को सजा रखा हैं। वही केमिकल युक्त दूध से खोया व पनीर बनाने वाले लोग पूरी तरह से सक्रिय हैं। इन पर निगाह न रखी गयी तो होली का मजा लोगो के लिये बवाले जान साबित हो सकता है। 
 शहर सहित ग्रामीणांचलो की किराना दुकानो पर होली का त्योहार नजदीक आते ही नकली, मिलावटी व मानव शरीर को नुकसान पहुचाने वाली खाद्य सामग्री का अम्बार लग गया है। कम लागत में अधिक मुनाफा कमाने के चक्कर में दुकानदार भी ऐसी घटिया सामग्रियो पर अधिक ध्यान दे रहे है कडवा तेल, घी पापड, रेडीमेड चिप्स आदि ऐसी तमाम खाद्य वस्तुये है जो मिलावटो से भरपूर है। इनका सेवन करने वाले लोगो को भी नही पता होगा कि वे जिस सामान से पकवान तैयार करायेगे। वह उनके शरीर पर बुरा प्रभाव डाल सकता है। इसी प्रकार केमिकल युक्त दूध से खोया व पनीर बनाने के काम में शामिल रहने वाले लोग भी सक्रिय हो गये है। होली पर्व की आखरी बड़ी बाजार शनिवार को मिलावट खोये की बिक्री जमकर हुयी। खोया के रेट सातवें आसमान पर रहे। तीन सौ रूपये से लेकर चार सौ रूपये किलो तक खोये की बिक्री की गयी। इसके बावजूद शुद्धता की कोई गारंटी नही है। इस बाबत जब लोगों से पूछा गया तो कुछ का कहना रहा कि वह बाजार से खोये की खरीददारी नहीं करते। घर पर ही शुद्ध खोया निकालकर काम चलाते हैं। वहीं कुछ का कहना रहा कि घर पर महिलाओं को अन्य काम भी होते हैं। ऐसे में खोया निकाल पाना संभव नही होता। इसलिए वह बाजार से खरीदकर ही काम चलाते हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट