AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 9 मार्च 2019

शिक्षकों ने दूसरे दिन भी मूल्यांकन कार्य का किया बहिष्कार

फतेहपुर, शमशाद खान । काफी समय से लम्बित चली आ रही मांगों को लेकर कई बार आवाज उठाने के बावजूद निस्तारण न होने पर नाराज शिक्षकों द्वारा उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के बैनर तले मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार किया जा रहा है। दूसरे दिन भी कार्य का बहिष्कार करते हुए शिक्षकों ने जीआईसी में धरना जारी रखा। शिक्षक नेताओं का कहना रहा कि मांगे पूरी न होने तक अनवरत आन्दोलन चलता रहेगा। 
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के बैनर तले मूल्यांकन केन्द्र राजकीय इण्टर कालेज में शिक्षकों ने मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार करते हुए दूसरे दिन भी धरना जारी रखा। धरने की अगुवई जिलाध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद शुक्ल ने की। धरने को सम्बोधित करते हुए शिक्षक नेताओं ने कहा कि शिक्षक अपनी मांगों को लेकर लगातार आवाज उठाते चले आ रहे हैं। लेकिन प्रदेश सरकार ने उनकी मांगों को आज तक पूरा नहीं किया। प्रदेश सरकार की वादाखिलाफी से नाराज होकर शिक्षक मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार किया जा रहा है। शिक्षकों ने मांग उठायी कि वित्तीय विहीन की 7 क क की मान्यता को 7-4 में परिवर्तित कर शिक्षकों की सेवा नियमावली बनाकर कम से कम पांच अंकों में मानदेय उनके बैंक खाते में भेजे जाये, अलाभकारी नई पेंशन व्यवस्था समाप्त कर पुरानी पेंशन बहाल की जाये, राजकीय कर्मचारियों की भांति चिकित्सकीय सुविधा प्रदान की जाये, अघतन कार्यरत शिक्षकों का विनियमितीकरण किया जाये, सीटीएलटी विसंगति को समाप्त किया जाये, व्यवसायिक एवं कम्प्यूटर अनुदेशकों का शिक्षक पद पर समायोजन किया जाये, विषय विशेषज्ञों को पूर्व की सेवा का लाभ दिया जाये, मूल्यांकन पारिश्रमिक सीबीएसई के बराबर किया जाये। पूर्व विधायक लवकुश कुमार मिश्र ने कहा कि जब तक मांगे पूरी नहीं होगी शिक्षक मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार करते रहेंगे। उन्होने कहा कि यदि प्रदेश सरकार नहीं चेती तो आने वाले चुनाव में भी सबक सिखाने का काम किया जायेगा। इस मौके पर जिला मंत्री वीरेश सिंह, कोषाध्यक्ष बलवीर प्रकाश, आडीटर मनोज साहू, संयोजक शक्तिकांत मिश्रा, कु0 आनन्द सिंह, अरूणा शंकर मिश्र, शिव सिंह परमार, शिवशंकर लाल सचान, राकेश सिंह भदौरिया, परशुराम यादव, लवकुश सिंह, रन्नो गुप्ता, अनुभव सिंह, अलाउद्दीन, लक्ष्मीकांत पाण्डेय, हरिश्चन्द्र मौर्य, शैलेन्द्र सिंह, नमित सिंह, राजेन्द्र मिश्र सहित सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट