AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 11 मार्च 2019

लोकसभा चुनाव सम्पन्न कराने को प्रशासन का फूल प्रूफ प्लान तैयार

फतेहपुर, शमशाद खान । चुनाव आयोग के इलेक्शन की घोषणा करते ही लोकसभा चुनाव 2019 का बिगुल बज चुका है। राजनैतिक दलों द्वारा अकेले चुनाव लड़ने व गठबन्धन के जरिये लोकसभा क्षेत्र से जहाँ अपने-अपने प्रत्याशियों के चयन प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है तो वही आयोग की मशीनरी द्वारा लोकसभा चुनाव को सकुशल सम्पन्न कराया जाना एक चुनौती से कम नही है। 49 फतेहपुर संसदीय क्षेत्र में छह विधानसभा क्षेत्र में 238 जहानाबाद, 239 बिंदकी, 240 फतेहपुर, 241 अयाह शाह, 242 हुसैनगंज एवं 243 खागा है। जिसमें पुरुष मतदाता 987450, महिला मतदाता 832925 अन्य 60 सहित कुल 1820435 पंजीकृत मतदाता अपने वोट की चोट देने का काम करेंगे। वही जनपद में 3650 सर्विस मतदाताओं द्वारा भी सरकार के भाग्य का निर्णय किया जायेगा। जनपद में 18 से 19 वर्ष के युवा मतदाताओं की संख्या 23382 है। यह मतदाता पहली बार अपने माताधिकार का प्रयोग कर सरकार बनाने में अहम रोल अदा करेंगे। मतदाताओं के वोट डालने के लिये 1373 मतदान केंद्र बनाये गये हैं। जिसमे 2045 मतदेय स्थल है। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी संजीव सिंह के दिशा निर्देशन पर चुनाव को सकुशल सम्पन्न कराये जाने के लिये आवश्यक 11191 चुनाव कर्मियों की जगह 13997 कर्मचारियो की नियुक्तियां की गयी है। वही चुनावी प्रक्रिया भय रहित व निष्पक्ष हो सके जिसके लिये 31 नोडल अधिकारी, 123 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 12 जोनल मजिस्ट्रेट भी लगाएं गए है। चुनावी प्रक्रिया पूरी तरह ट्रांसपेरेंट रहे जिसकी निगरानी के लिये 18 टीमे भी मुस्तैद रहेगी। लोकसभा निर्वाचित क्षेत्र में एएमएफ में पेयजल 2032, रैम्प 1942, विद्युत 1463, शौचालय 2037, फर्नीचर 1981, शेड 1432, टेलीफोन 916 निर्वाचन अनुवीक्षण टीम में 18 एसएसटी, 18 वीडियो अवलोकन टीम आदि की व्यवस्था की गयी है। वही एमसीसी के अनुपालन के लिए सम्पूर्ण नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रो को कवर करने के लिए 10 टीमें भी लगाई गई है और एमसीसी के अनुपालन हेतु 18 टीमे फ्लाइंग स्कॉट के लिये भी मुस्तैद रहेगी। इन सब के अतिरिक्त पूरी चुनावी प्रक्रिया पर निगरानी रखने के लिए कलेक्ट्रेट स्थित संयुक्त कार्यालय में कंट्रोल रूम/शिकायत प्रकोष्ठ भी बनाया गया है जिसका नम्बर 05180-221911 है। साथ ही टोल फ्री नंबर 1950 काल सेंटर कलेक्ट्रेट स्थित कक्ष संख्या 32 पर स्थापित किया गया है। उक्त दोनों कंट्रोल रूम 24 घंटे अनवरत कार्य करते रहंगे। जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी संजीव सिंह ने राजनैतिक दलो की बैठक लेकर उन्हें चुनाव आचार संहिता का पाठ पढ़ाते हुए कड़ाई से पालन कराने व भड़काऊ भाषण से बचने की सलाह दिया है। पांचवे चरण में 6 मई 2019 को जनपद में चुनाव के लिये मतदान किया जाना है। जिसके लिये 10 अप्रैल से 18 अप्रैल 2019 तक नामांकन किये जायेगंे। राजनैतिक दलों को अपनी रैली, सभा के आयोजन के लिए परमिशन लेना अनिवार्य होगा। राजनैतिक दल आनलाइन भी अपना आवेदन कर सकते है। चुनाव आयोग के निदेश पर जिला प्रशासन मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिये मतदाता जागरूकता अभियान चालकर लोगो से बढ़ चढ़ कर मतदान करने की अपील करने के साथ ही उन्हें जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है। मतदाताओं को किसी तरह से डराये धमकाये जाने व उन्हें प्रलोभन दिए जाने जैसी घटनाओं पर रोक लगाने के लिये पुलिस अधीक्षक कैलाश सिंह के निर्देशन में जनपद में 26 बैरियर, 20 पिकेट की स्थापना की गयी है। वही घटनाओ पर नजर रखने के लिये 18 स्टेटिक सर्विलांस, 18 उड़नदस्ता टीमो का गठन किया गया है। किसी भी आपात स्थिति में घटनास्थलों पर पहुंचने के लिए 40 कलेस्टर मोबाईल तैयार की गई है। चुनाव के समय मतदाताओ में राजनातिक दलों द्वारा शराब बांटे जाने की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस व आबकारी विभाग की संयुक्त टीमो द्वारा 5126 लीटर अवैध शराब बरामद करने के साथ ही 30 शराब की भट्टी लगभग 80 कुंतल लहन नष्ट करते हुए इसमें संलिप्त अभियुक्तों की गिरफ्तारी भी की जा चुकी है। जबकि चुनावी प्रक्रिया बाधित करने वाले अपराधिक तत्वों पर पुलिस द्वारा कार्यवाही करते हुए 7796 व्यक्तियों के विरुद्ध 107/116 सीआरपीसी की कार्यवाही की गई है। जबकि गुंडा एक्ट के तहत 68 व्यक्तियो का चालान करने के साथ ही जिला बदर की कार्यवाही की गयी है। वहीं गिरोह बन्द अधिनियम में 04 अभियोग पंजीकृत कर 19 अभियुक्तों के विरुद्ध कार्यवाही की गई है। इसके अलावा अपराधियो पर लगाम लगाने के लिये 64 अवैध शस्त्र, 87 कारतूस, 07 चाकू बरामद किये गए है। 71 अभियुक्तों की गिरफ्तारी भी की गई है। प्रत्येक मतदान केंद्रों की सुरक्षा के लिये पैरा मिलिट्री फोर्स के अतिरिक्त 10-10 पुलिस के जवानों की तैनाती की जायेगी। संवेदनशील बूथों पर चुनावी प्रक्रिया को बाधित करने की आशंका को देखते हुए ऐसे बूथों के क्षेत्र के 10-10 अराजक तत्वों को चिन्हित कर उन पर कार्यवाही की जायगी। लोकसभा चुनाव को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा कमर कस ली गयी है। निष्पक्ष चुनाव सम्पन्न कराये जाने के लिये चुनाव आयोग के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा पहले से ही फूल प्रूफ तैयारी पूरी की जा रही है। ऐसे में चुनाव प्रभावित करने व गड़बड़ी करने वालो की खैर नही है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट