AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 16 मार्च 2019

ठेकेदार की मेहरबानी, उड़ती धूल बन रही ज़नता की परेशानी

रायबरेली, रवि श्रीवास्तव - रायबरेली शहर के कई इलाकों में उड़ रही धूल से जनता को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।  शहर के लोगों की जुबान पर बस एक ही रट है इस समस्या से कब मुक्ति मिलेगी। आपको बता दें कि शहर मेंं सीवर लाइन गहरीकरण को लेकर जगह-जगह सड़क की खुदाई कर दी गई है।जिसके बाद पाइपलाइन डालकर  उसे मिट्टी से ढ़क दिया गया है और अब वही मिट्टी धूल बनकर उड़ रही है जिसे लेकर शहरवासी काफी परेशान  हैं। बात करें हम गोराबाजार की तो इस इलाके के व्यापारी से लेकर आम जनता के लिए उड़ती हुई धूल मुसीबत का सबब बनीं हुई है। गोराबाजार केंद्रीय विद्यालय से लेकर फिरोज गांधी कालोनी तक सीवर लाइन के लिए सड़क की खुदाई की गई । पाइपलाइन डालने के बाद सड़क पर मिट्टी तो डाली गई लेकिन ठीक तरीक़े से न उसे बराबर किया गया न ही कुछ ऐसा इंतजाम जिससे आने जाने वाले लोगों को समस्या से निजात हो। गोराबाजार निवासियों की माने तो सड़क खुदजाने के बाद उड़ रही धूल से वह बहुत परेशान हैं। लोगों का कहना है कि उड़ती हुई धूल बीमारियों को न्योता दे रही है। इतना ही नहीं सड़क बराबर न होने से बाइक और साइकिल वाले लोग अक्सर गिर जाते हैं।  केन्द्रीय विद्यालय के छात्र छात्राओं के साथ साथ कई स्कूलों के बच्चे प्रतिदिन इसी रोड़ से होकर जाते हैं।  व्यापारियों ने बताया कि सड़क की हालत इस तरह से होने से उनके व्यापार पर भी असर पड़ा है। जिस तरह से धूल उड़ रही है इससे लोग इधर आना नहीं चाहते। धूल ने जीना दुस्वार कर रखा है। ऐसा लगता है कि धूल की वजह से बीमार होने लगे हैं। लेकिन सड़क का ठेका लिए हुए लोगों से इन सबसे क्या मतलब? उनका काम अभी पूरा नहीं हुआ लोग गिरते हैं तो गिरें,.बीमारी होते हैं तो हो, व्यापार चले या न चले, लोगों को परेशानी हो तो हो। सड़क बराबर न होने से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। नाराजगी जाहिर करते हुए और चुनाव आचार संहिता को देखते हुए गोरा बाजार निवासियों और व्यापारियों ने धूल की समस्या को लेकर डाक के माध्यम से  जिलाधिकारी नेहा शर्मा को पत्र भी भेज दिया है। देखने वाली बात यह है कि अब इस पूरे मामले में प्रशासन क्या कार्रवाई करता है जिससे आमजनमानस को इस समस्या से निजात मिल सके।या फिर पड़ने वाली  गर्मी और धूल बीमारियों का कारण बनेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट