AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 29 अप्रैल 2019

तापमान बढ़ने से संक्रामक बीमारियों के मरीजों की संख्या में इजाफा

फतेहपुर, शमशाद खान । गर्मी की बेतहाशा बढ़ोत्तरी से संक्रामक बीमारियों ने पैर पसारने शुरू कर दिये है। प्रतिदिन प्राइवेट अस्पतालो के साथ ही जिला चिकित्सालय के ओपीडी में मरीजों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है। संक्रमक बीमारियों की चपेट में सबसे अधिक नौनिहाल बच्चे तेज बुखार, मलेरिया, उलटी, दस्त, जैसी बीमारियों से ग्रसित हो रहे है। जबकि बड़ी संख्या में महिलाओ व वृद्धजनों को भी संक्रामक रोगों का सामना करना पड़ रहा है। संक्रामक बीमारियों से पीड़ितो के कारण जिला चिकित्सालय की इमरजेंसी वार्ड फुल हो चुके हैं। जबकि पीडितों की वास्तविक संख्या कहीं ज्यादा है। जोकि प्राइवेट अस्पतालों में भी इलाज करा रहे है। जिला चिकित्सालय की ओपीडी में तैनात चिकित्सको का कहना रहा कि गर्मी के मौसम होने और तापमान की अधिकता के कारण संक्रामक रोगियो की संख्या बढ़ गयी है। जिला चिकित्सालय आने वाले मरीजों में बड़ी संख्या में संक्रामक बीमारियों से पीड़ित मरीज आ रहे हैं। जिनमे उलटी, दस्त, काफी समय से बुखार आने, कमजोरी-थकान, डायरिया, मलेरिया जैसे रोगों से ग्रस्त रोगियों की संख्या अधिक है। वही जिला चिकित्सालय की इमरजेंसी में संक्रामक रोगों की चपेट में आये मरीजों की संख्या में भी दिनो दिन बढ़ोत्तरी हो रही है। जिन्हें इलाज के लिए भर्ती किया गया है। चिकित्सको द्वारा संक्रामक बीमारियों से बचने के लिये लोगो को घरों से बाहर निकलने से पहले लू व धूप से बचाव के लिये तन को पूरी तरह से ढकने वाले साफ कॉटन के कपड़ो के प्रयोग करने, चेहरे को स्कार्फ या तौलिया से अच्छे से लपेटने व घरों से निकलने से पहले पर्याप्त पानी पीकर बाहर निकलने एवं बाजार में बिकने वाले कटे हुए फलों का सेवन से बचने और बासी भोजन का प्रयोग न करने की सलाह दी गयी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट