AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 29 अप्रैल 2019

समाजसेवी ने सदर अस्पताल में कुष्ठ इकाई गठित करने की उठायी मांग

फतेहपुर, शमशाद खान । जिला चिकित्सालय पुरूष में कुष्ठ इकाई न होने के चलते मरीजों को आ रही दिक्कतों के मद्देनजर मानव सेवा संरक्षण संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं समाजसेवी तबरेज वारसी टीलू ने मुख्य चिकित्साधीक्षक को तीन सूत्रीय ज्ञापन सौंपकर जिला अस्पताल में कुष्ठ इकाई का गठन करके चिकित्सक व स्टाफ की तैनाती किये जाने की मांग की है। जिससे मरीजों को इधर-उधर भटकना न पड़े। 
मुख्य चिकित्साधिकारी को दिये गये तीन सूत्रीय ज्ञापन में समाजसेवी तबरेज वारसी टीलू ने कहा कि जिला चिकित्सालय में कुष्ठ विभाग की कोई इकाई नहीं है और न ही कुष्ठ से सम्बन्धित कोई स्टाफ है। उन्होने बताया कि कुछ दिन पहले कुष्ठ विभाग के फिजियोथेरेपिस्ट कुष्ठ के मरीज देखते थे लेकिन अन्य कार्यों की वजह से उन्हें वापस कुष्ठ विभाग में तैनात कर दिया गया। जिससे जिन कर्मचारियों की तैनाती जिला अस्पताल में होनी चाहिए वह भी कुष्ठ कार्यालय में बैठते हैं। इससे मरीजों को कई बार उधर-उधर भटकना पड़ता है। उन्होने कहा कि कार्यालय खुलने का समय दस बजे से शाम पांच बजे तक है। मरीजों को दस बजे तक इंतजार करना पड़ता है। उन्होने यह भी बताया कि कुष्ठ कार्यालय में पर्चे भी नहीं बनते हैं। मरीजों को पर्चा बनवाने के लिए वापस जिला अस्पताल आना पड़ता है। उन्होने कहा कि पिछले तीन वर्षों से कुष्ठ विभाग में किसी तरीके की कोई सुविधा नहीं है। शासन के निर्देशानुसार जिला चिकित्सालय में कुष्ठ इकाई तथा मनोरोग विशेषज्ञ होना चाहिए। जिला चिकित्सालय में एक डाक्टर तैनात किया गया था। उसके अनुसार उस डाक्टर को भी मुख्य चिकित्साधिकारी के विभाग डीएलओ में सम्बद्ध कर दिया गया। उन्होने सीएमओ से मांग किया कि मरीजों की समस्याओं को देते हुए जिला चिकित्सालय में ही कुष्ठ इकाई का गठन करके एक चिकित्सक व स्टाफ की तैनाती की जाये। जिससे आने वाले मरीजों को उपचार के लिए इधर-उधर भटकना न पड़े। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट