AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

मंगलवार, 16 अप्रैल 2019

बिजली विभाग की अनदेखी से मौत के सायें में जी रहे लोग

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता - शहर की जनता एक नही कई समस्याओं से वर्षो से जूझ रही है, सरकारे आती है और बदल जाती है लेकिन जनता को कोई भी सरकार हल नही दे जाती है। कहीं पानी की तो कही सडक की तो कही बिजली की समस्याओं में कोई कमी नही आ रही है। वहीं सरकारी विभागों के अधिकारी अपने कमरो से निकलना नही चाहते तो समस्या का समाधान कैसे हो। इसी प्रकार थाना कोहना क्षेत्र के रानीघाट, पुराना कानपुर के अहाता 6/39 में सैकडो लोगों के घर बिजली का कनेक्शन तो है लेकिन मीटरो में जो बिजली के तार आये है उन्हे व्यवस्थित करने के लिए क्षेत्र में एक भी खंभा नही है और यह समस्या आज की नही वर्षो की है।
               रानीघाट 6/39 अहाते के निवासियों की माने तो उन लोगों ने सालों पहले केसा विभाग से बिजली का कनेक्श लिया था और लोगों के घरों में मीटर लगे थे तथा तार मेन रोड पर लगे बिजली के खंभो से लाये गये। बताया गया कि अहाता बडा है और यहां न पहले एक भी पोल था और न अब है, जो कनेक्शन किये गये थे, घरो तक आने वाले तार किसी के छज्जे से तो किसी की छतो से आये है। कनेक्शन के समय विभागीय लोगों ने आश्वासन दिया था कि दो माह में खंभे लग जायेगे लेकिन सालों बीतने के बाद एक भी खंभा नही लगा। इस सम्बन्ध स्थानीय निवासिनी सरस्तवी देवी शुक्ला ने बताया कि कई बार शिकायती पत्र केस्को एमडी तथा डीएम को लिखा लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई। वहीं  कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचैरी को शिकायत करने पर विभागीय निरीक्षण हुआ और समस्या सही पायी गयी लेकिन एक वर्ष बीतने पर भी पूरे अहाते में एक भी खंभा नही लग पाया है, जिससे क्षेत्रीय जनता परेशान और आक्रोशित है। लोगों का कहना है कि तार पुराने होने के कारण चटकने लगे है और ऐसे में कभी भी कोई हादसा हो सकता है। तार छतों व छज्जो से जा रहे है और सडकों पर बुरी तरह लटके हुए है लेकिन कोई केस्कों का अधिकारी या कर्मचारी ध्यान नही दे रहा है। स्थानीय लोगों ने कहा कि वह खौफजदा है और मौत के साये में जीने को मजबूर है। आदेशो के बाद भी केस्कों विभाग के अधिकारी क्षेत्र में खंभा नही लगा रहे है। कहा कियदि ऐसा ही रहा और उनकी समस्या दूर नही हुई तो सभी स्थानीय निवासी केस्को एमडी के बंगले के बाहर धरना देने को मजबूर होंगे। इस दोैरान सरस्वती देवी, प्रदीप कुमार, जसोदा देवी, ज्ञानवती, पूनम देवी, शिवकानत पाझउे, राम कृपाल, पप्पू, गंगा प्रसाद, कलावती, रामा, पुत्तु लाल वर्मा, विजय वर्मा, राम जीवन सविता आदि मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट