AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 5 मई 2019

भाजपा, गठबंधन व कांग्रेस के बीच होगा कांटे का मुकाबला

फतेहपुर, शमशाद खान । लोकसभा चुनाव में तमाम उतार चढ़ाव व लंबे इंतजार के बाद आखिरकार मतदान की घड़ी आ ही गयी। जनपद की 49 लोकसभा सीट में पांचवें चरण में आज वोट डाले जायेंगे। भाजपा बसपा व कांग्रेस सहित 10 प्रत्याशी मैदान में हैं। जिनके भाग्य का फैसला 1835254 मतदाता करेंगे। जनपद के 2045 बूथों पर मतदाता अपने वोट की चोट करेंगे। कहने को तो 10 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है लेकिन मुकाबला भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस व सपा बसपा गठबन्धन के बीच में ही होना तय है। लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने जहाँ निवर्तमान सांसद व केंद्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरजंन ज्योति को एक बार फिर से चुनाव मैदान में उतारा है वही समाजवादी पार्टी व बहुजन समाजवादी पार्टी के गठबन्धन की ओर से बसपा के दो बार के बिन्दकी विधानसभा से विधायक रहे चुके सुखदेव प्रसाद वर्मा को प्रत्याशी बनाया गया। जबकि कांग्रेस पार्टी से राकेश सचान चुनाव मैदान में है। राकेश सचान समाजवादी पार्टी के टिकट पर 2009 में जनपद से लोकसभा सांसद चुने गए थे। जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के कारण उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। 2014 के लोकसभा चुनाव में केंद्रीय साध्वी निरंजन ज्योती 485994 मत पाकर विजय रही। जबकि बहुजन समाज पार्टी के अफजल सिद्दीकी 298788 मतों को पाकर दूसरे स्थान पर रहे थे। वही राकेश सचान 179724 वोट पाकर तीसरे स्थान पर सिमट गए थे। जबकि कांग्रेस पार्टी उम्मीदवार रही ऊषा मौर्या मात्र 48588 मत ही हासिल कर चैथे स्थान पर रही थी। लोकसभा चुनाव में जहाँ पल पल बदल रहे जातीय समीकरण के कारण हर पल चुनाव की तस्वीर बदल रही है। छोटे बड़े नेताओं के दौरे कराकर जहाँ सभी दलों के प्रत्याशियों ने अपने पक्षो में माहौल बनाने का काम किया। वही शनिवार शाम 6 बजे प्रचार बन्द होने के बाद डोर टू डोर दस्तक के दौर के साथ जातीय समीकरणों को साधने का सिलसिला चल पड़ा। जोकि देर रात तक जारी रहा। प्रत्याशी व उनके समर्थक मतदाताओ के साथ बिरादरी के लंबरदारों संग बैठक कर अपने अपने प्रत्याशियों के पक्ष में माहौल बनाते रहे। वैसे तो सभी प्रत्यशियो के अपने अपने जीत के दावे कर रहे हैं। कोई किसी से अपने आपको कमजोर नही आंक रहा है। भारतीय जनता पार्टी जहाँ विकास, देश सुरक्षा व राष्ट्रवाद जैसे मुद्दों के नाम पर जनता के सामने है वही कांग्रेस पार्टी मोदी सरकार की विफलताओं, न्याय योजना व किसानों व बेरोजगारी जैसी समस्याओं के नाम पर मैदान में है। जबकि गठबन्धन प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गयी वादा खिलाफी, किसानों, बेरोजगारों की अनदेखी किये जाने जैसे मुद्दे लेकर मैदान में है। लोकसभा चुनाव में जहाँ गठबन्धन भाजपा व कांग्रेस के मध्य कांटे की टक्कर है। भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार व केंद्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति जहाँ राजनीति की माहिर खिलाड़ी है। वही गठबन्धन की ओर से बसपा प्रत्याशी सुखदेव प्रसाद वर्मा भी दो बार के बिन्दकी विधानसभा से विधायक रहे चुके है। जबकि कांग्रेस प्रत्याशी राकेश सचान की गिनती भी राजनीती के दिग्गज खिलाड़ियों में की जाती है। राकेश सचान घाटमपुर विधानसभा से दो बार विधायक समाजवादी पार्टी के टिकट पर जनपद से लोकसभा सांसद रह चुके है। राकेश सचान को जोड़ तोड़ व राजनीति का माहिर खिलाड़ी समझा जाता है। बहरहाल लोकसभा चुनाव में किस प्रत्याशी को जीत मिलती है कौन दिल्ली पहुँचता है यह तो आज होने वाले मतदान के बाद आगामी 23 मई को होने वाली मतगणना में ही साफ हो पायेगा। जब तक प्रत्याशी व उनके समर्थकों द्वारा अटकल लगाये जाने का दौर तो जारी ही रहेगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट