AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 4 मई 2019

हटाई गयी वर्षो पुरानी बादशाहीनाका सब्जी मण्डी

कानपुर नगर,  हरिओम गुप्ता - कानपुर नगर के बादशाहीनाका क्षेत्र में वर्षो पुरानी या यूं भी कह सकते है बहुत सालों पुरानी सब्जी मंडी को खाली कराया गया साथ ही यहां वर्षो से जमे अवैध सब्जी व्यापारियों को हटवाया गया। शनिवार की सुबह यहां के कब्जो को धराशाही कर दिया गया। शनिवार की सुबह रोज की ही तरह सब्जीमण्डी सज गयी लेकिन दस बजे अचानक कई थानों की पुलिस और प्रश्ज्ञासनिक अधिकारी यहां पहुंच गये और तत्कला सब्जीमण्डी को खाली करने का एलान कर दिया, साथ ही सब्जी विक्रेताओं को एक घण्टे में अपना सामान हटाने का आदेश दिया।
                 एक घण्टे बाद नगर निगम के बुलडोजर हरकत में आये और मंडी में लगी टट्टर तथा पक्की दुकानों को गिराना शुरू कर दिया। चूंकी कोई बवाल न हो इसलिए पुलिस प्रशासन सक्रीय रहा और भारी पुलिस बल के आगे किसी की कुछ करने व कहने की हिम्मत न हो सकी। एक सब्जी व्यापारिी ने बताया कि बादशाहीनाका सब्जी मंडी की भूमि को लेकर नगर निगम व प्रशासन से चल रहा मुकदमा न्यायालय में विचाराधीन चल रहा है, बावजूद इसके प्रशासन ने किसी भी आदेश को न मानते हुए मंडी को अवैध करार देते हुए खाली कराया है। बताते चले कि बदशाही नाका थाना का स्थानान्तरण होना है और नये स्थान पर थाना बनाने के लिए मंडी की भूमि को चिन्हित किया गया था लेकिन सब्जी व्यापारियों का कहना है कि इस मामले में कोर्ट से अभी तक कोई आदेश नही आया है। प्रशासन द्वारा मण्डी जबरन खाली करायी जा रही है ऐसे में गरीबों की सुनने वाला कोई नही है। सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि सब्जीमण्डी हटने से सैकडो लोगो का रोजगार छिन जायेगा और उनके सामने परिवार के भरण पोषण की समस्या खडी हो जायेगी। लोगों का कहना है कि डेढ वर्ष से ज्यादा समय से बादशाहीनाका थाना के नये भवन के निर्माण के लिए शासन द्वारा दस करोड रू0 दिया गया था और यदि अब दो दिनों के अंदर यह निर्माण कार्य नही किया गया तो रूपया सरकारी खजाने में वापस पहुंच जायेगा, इसलिए जिला प्रशासन ने अपने तेवर सख्त किया है। सब्जी विक्रेताओं ने कहा कि भूमि को जबरन खाली कराया जा रहा है। यदि कोर्ट भी उनके विरोध में निर्णय देगी तो भी कम से कम 90 दिनो का समय कब्जेदारों को भूमि खाली करने के लिए दिया जायेगा। सीओ स्वेता यादव ने कहा कि हमारे पास मंडी को खाली कराने के आदेश आये है, जिसको लेकर भारी पुलिस बल की मौजूदगी में मण्डी को खाली कराया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट