AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

बुधवार, 15 मई 2019

गौशालाओं की देखरेख व व्यवस्था के लिए समाज से मागेंगे सहयोग

फतेहपुर, शमशाद खान । गंगा बचाओ सेवा समिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि गौशालाओं की देखरेख व व्यवस्था हेतु समाज से सहयोग मांगा जायेगा। इसके साथ ही स्वयंसेवी संगठनों से एक-एक गौशाला गोद लेने की अपील भी की जायेगी। समिति भी जिलाधिकारी से अनुमति लेकर रारा गौशाला को गोद लेने का काम करेगी। 
समिति की एक बैठक कैम्प कार्यालय पीलू तले चैराहे पर सम्पन्न हुयी। बैठक की अध्यक्षता करते हुए समिति के प्रदेश अध्यक्ष शैलेन्द्र शरन सिम्पल ने कहा कि गौवंश हमारी धरोहर है। इसको संरक्षित करना हम सभी का नैतिक दायित्व है। गौ ने हमारे समाज में मां का स्थान प्राप्त किया है। लेकिन समाज की उदासीनता के कारण गाय आज अपना अस्तित्व बचाने के लिए दर-दर की ठोंकरे खाने के लिए विवश हैं। यदि गौवंश धरा से समाप्त हुआ तो मानव जीवन के लिए बड़ा संकट खड़ा हो जायेगा। उन्होने कहा कि शीघ्र ही जिलाधिकारी से मुलाकात करके रारा गौशाला को गोद लेने की अनुमति ली जायेगी। बैठक का संचालन करते हुए समिति के प्रदेश महासचिव विनोद कुमार गुप्त ने कहा कि शासन द्वारा गौशालाएं खोल दी गयी हैं। यह उनका प्रयास है। लेकिन समाज की भी जिम्मेदारी है कि समय-समय पर उन गौशालाओं में ध्यान भी जाना चाहिए। साथ ही उनकी देखरेख करनी चाहिए। जिससे कोई भी गौवंश आकस्मिक मौत का शिकार न हो सके। उन्होने समाज व स्वयंसेवी संगठनों से अपील किया कि परिवारों में होने वाले मांगलिक कार्यों व धार्मिक अनुष्ठानों में होने वाले खर्चों में कुछ अंश गौशालाओं हेतु भी दान स्वरूप निकालें जिससे उनका भरण-पोषण किया जा सके। उन्होने कहा कि जब तक पूरा समाज सहयोग के लिए नहीं खड़ा होगा तब तक गौवंश नष्ट होता रहेगा। इस मौके पर मूलचन्द्र त्रिपाठी, अरूण जायसवाल, सुरेन्द्र पाठक, अमित शरन बाबी, आशीष अग्रहरि, राधेश्याम हयारण, शिव कुमार गुप्त, दिलीप मोदनवाल, राजेश मोदनवाल सहित तमाम पदाधिकारी मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट