AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 5 मई 2019

शहर भर में धडल्ले से चल रहा गैस रिफलिंग का कारोबार

कानपुर नगर,  हरिओम गुप्ता - जिस प्रकार कहावत है कि बिना ईश्वर की मर्जी से पत्ता भी नही हिल सकता वहीं बिना पुलिस की मर्जी से थाना क्षेत्रों में अपराध का कोई भी काला कारोबार नही हो सकता। यह बात अलग है कि कुछ सयम के लिए पुलिस को खबर न हो लेकिन सत्यता यह है कि काला कारोबार ही पुलिस की ऊपर कमाई का बडा साधन है। गर्मियां बढते ही जहां आग लगने की घटनाओं में वृद्धि हो जाती है वहीं कुछ लोग चंद पैसो के लिए अपनी जान के साथ हजारो लोगों की जान के साथ खिलवाड करते नजर आते है और ऐसी ही एक समस्या शहर को खतरे की ओर धकेल रही है। आज पूरे शहर में गैस रिफंलिंक का काला कारोबार अपनी जडे जमा चुका है वह भी पुलिस के संरक्षण है।
           पुलिस कानून व्यवस्था बनाये रखने तथा अपराधों को रोकने के लिए होती है लेकिन कानपुर में अपराध की खेती ही पुलिस के सायें में लहलहाती है। आज पूरे कानपुर नगर में बडे स्तर पर अवैध रूप से गैस की रिफलिंग की जाती है और यह सब पुलिस के संरक्षण में चलता है जिसकी माहवारी बडी रकम के रूप में थाने पहुंचती है। कानपुर दक्षिण ही नही शहर में भी सैकडो गैस उपकरणों की दुकानों की आड में रिफलिंग का कारोबार किया जा रहा है, जो चोरी छुपे नही बल्कि बीच बाजार व गलियों में चल रहा है। बडी बात तो यह कि जिस तरह से गैस रिफलिंग का धंधा पनप रहा है और पुलिस अनभिज्ञ अपने को जताती है यह कानून व्यवस्था का मजाक है। ग्वालटोली क्षेत्र में खुले आम रिफलिंग पिछले 20 सालों से पुलिस की ही संरक्षण में जारी है। सूत्रों की माने तो इलाके का एक दबंग सभी रिफलिंग करने वालो से पैसा एकत्र कर हर महीने थाने पहुंचाता है और शिकायत पर होने वाली जांच से पहले थाना रिफलिंग करने वालों को अवगत कराता है कि छापा पडने वाला है और इस प्रकार रिफलिंग का सामान हटा लिया जाता है। धंधा खुलेआम चल रहा है और शायद अधिकारियों को भी मालूम है लेकिन कार्यवाही क्यों नही हो रही।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट