AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शुक्रवार, 24 मई 2019

गरीबों के दर्द को अपना दर्द समझते हैं समाजसेवी तबरेज वारसी

फतेहपुर, शमशाद खान । आइये आज हम बात करते हैं एक ऐसे मसीहा की जिसने गरीबों की मदद करना ही अपना असली मकसद बना लिया है। बात की जा रही है उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जनपद के रहने वाले समाजसेवी तबरेज वारसी उर्फ टीलू की। जिन्होने तमाम ऐसे कार्य किये हैं जिनके बल पर ही वह गरीबों के मसीहा बन बैठे हैं। उन्हें किसी परिचय की जरूरत नहीं है। वह गरीब बेसहारा लोगों के मसीहा के रूप में कार्य कर रहे हैं। इनके जीवन से जुड़े कुछ अंश यहां प्रस्तुत किये जा रहे हैं जिनको पढ़कर आपको आश्चर्य होगा।
शहर के पनी मुहल्ला निवासी तबरेज वारसी उर्फ टीलू ने अपनी कम उम्र में ही पिछले चार वर्षों में लम्बी छलांग लगाई है। यह छलांग उन्होने पैसे के बल पर नहीं बल्कि गरीबों की मदद करके लगाई है। तबरेज वारसी को आज किसी परिचय की जरूरत नहीं है। ये कोई आम आदमी नहीं है इन्हें हर शख्स जानता है। इतनी कम उम्र में गरीब जनता के लिए बड़े-बड़े पदों पर रहकर पिछले दस सालों तक कार्य किया है। तबरेज वारसी एक पत्रकार होने के साथ-साथ राजनैतिक पार्टियों में भी शामिल रहे। इतना ही नहीं उन्होने समाजसेवा के क्षेत्र से जुड़कर सर्दी, गर्मी एवं बरसात के दिनों में लोगों के लिए दिल खोलकर मदद की। गर्मियों में शहर के तमाम स्थानों पर निःशुल्क प्याऊ लगवाकर लोगों को भीषण गर्मी में राहत पहुंचाने का काम किया। वहीं बारिश के मौसम में गरीब बस्तियों में घूम-घूमकर जरूरतमंदों को बारिश से बचाने वाले सामान भी उपलब्ध कराये। सर्दी आने पर भी वह किसी से पीछे नहीं रहते। गरीब, बेसहारा, बेवाओं को उन्होने कम्बल वितरित कर राहत पहुंचायी। इन परोपकारों को करने के बाद भी जब उन्हें संतुष्टि नहीं मिली तो उन्होने समाजसेवा के क्षेत्र में एक और पहल जोड़ ली। इस कड़ी में उन्होने गरीब, बेसहारा परिवारों की लड़कियों के अपने खर्चें से विवाह कराये। शहर क्षेत्र के कृष्ण बिहारी नगर मुहल्ला निवासी रूबीना के पति का बीस साल पहले देहात हो गया था। उसके एक पुत्री थी। जिसकी शादी की चिन्ता उसे बेहद सता रही थी। जब इसकी जानकारी समाजसेवी तबरेज वारसी को हुयी तो उन्होने ज्यादा से ज्यादा सहयोग करके उसकी पुत्री का विवाह सम्पन्न कराया। इसी तरह अरबपुर मुहल्ला निवासी रूकसाना बेगम ने बताया कि तबरेज वारसी प्रतिवर्ष निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर तथा जाड़े में कम्बल तथा गर्मी में प्याऊ लगवाते हैं। जो बेहद सराहनीय कार्य हैं। सभी का सहयोग अपने तन-मन-धन से करते हैं। इतना ही नहीं समाजसेवी ने मलिन बस्तियों में रहने वाले गरीब परिवारों की भी मदद की है। तबरेज वारसी ईद, दीपावली, होली जैसे बड़े पर्वों को इन बस्तियों में रहने वाले लोगो के साथ मिलकर मनाते हैं। उधर जब समाजसेवी तबरेज वारसी उर्फ टीलू से बात की गयी तो उनका कहना रहा कि उन्होने समाजसेवा के क्षेत्र से जुड़े तमाम काम तो किये हैं लेकिन अभी उनका मकसद पूरा नहीं हुआ है। गरीब, बेसहारा लोगों के बच्चे अच्छी शिक्षा हासिल नहीं कर पाते। इसकी प्रमुख वजह आर्थिक तंगी होती है। इसलिए जल्द ही वह एक स्कूल का निर्माण करायेंगे। जहां ऐसे लोगों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देने के साथ-साथ सामग्री उपलब्ध कराई जायेगी। जिससे गरीबों के बच्चे भी अच्छी शिक्षा हासिल करके मां-बाप के साथ-साथ जिले, प्रदेश व देश का नाम रोशन कर सकें।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट