Recent comments

Breaking News

चौक बाजार का अतिक्रमण न तोड़ने के विरोध में गुलाबी गैंग ने किया प्रदर्शन

फतेहपुर, शमशाद खान । शासन के निर्देशन में चलाये जा रहे अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत चैक बाजार में जेसीबी जाने को लेकर प्रशासन एवं पुलिस पर हुयी पत्थरबाजी के बाद सदर विधायक के कोतवाली में धरना देकर अभियान समाप्त कराये जाने पर जहां जनपदवासियों में बेहद आक्रोश है। वहीं गुलाबी गैंग ने सोमवार को कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। राष्ट्रीय कमांडर ने जिलाधिकारी को चेतावनी दिया कि यदि चैक बाजार में कार्रवाई न की गयी तो गुलाबी गैंग की महिलाएं चैक पहुंच स्वयं जबरन अतिक्रमण तोड़ने का काम करेंगी। जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय कमांडर को आश्वस्त किया कि शासन से वार्ता चल रही है। हरी झण्डी मिलते ही चैक बाजार में दोबारा अभियान चलाया जायेगा। 
गुलाबी गैंग की राष्ट्रीय कमांडर सम्पत पाल की अगुवई में महिलाएं नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंची। जहां सदर विधायक के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। दिये गये ज्ञापन में कहा गया कि अतिक्रमण अभियान की प्रशंसा होने के बावजूद भी आखिर चैक में ऐसी क्या मजबूरी हुयी या किसके कहने पर अतिक्रमण अभियान बंद कर दिया गया। इस तरह जनपदवासियों के साथ भेदभाव क्यों किया गया है। जिसका आक्रोश आम जनमानस में है। राष्ट्रीय कमांडर ने कहा कि यदि चैक बाजार में अतिक्रमण अभियान न चलाया गया तो गुलाबी गैंग जनपदवासियों के साथ जन आन्दोलन के लिए मजबूर हो जायेंगी। कहा गया कि चैक का व्यापारी सिर्फ व्यापारी है अन्य स्थापनों पर लोग व्यापार नहीं करते। पूरे शहर क्षेत्र में अभियान चलने पर किसी जनप्रतिनिधि को दुख नहीं पहुंचा। लेकिन चैक में अभियान पहुंचने पर ही जनप्रतिनिधियों ने ओछी हरकत करते हुए अभियान को बंद कराने का काम किया है। इस तरह की कार्रवाई कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। गुलाबी गैंग की मांग को सुनते हुए जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने कहा कि शासन से इस मामले में वार्ता चल रही है। हरी झण्डी मिलते ही चैक बाजार में अतिक्रमण चलाया जायेगा। इस मौके पर प्रदेश कमांडर सुशीला मौर्या, जिला कमांडर शैल त्रिपाठी, रेनू वर्मा, गायत्री बाजपेयी, अनीता, सुमन, रज्जा, मंजू, शिवकली, सूरजकली, माया, सुनीता, प्रेमा, निर्मला, शान्ती, विमला, रामा देवी सहित बड़ी संख्या में महिलाएं मौजूद रहीं। 

No comments

फाइलेरिया से बचाव

इलाज बीमारी की प्रारंभिक अवस्था में ही शुरू हो जाना चाहिए। किसी ऐसे क्षेत्र में जहां फाइलेरिया फैला हुआ है वहां खुद को मच्छर के काटने से ...