Recent comments

Breaking News

प्रसपा का पहला धरना-प्रदर्शन हुआ फ्लाप, नहीं जुट सकी भीड़

फतेहपुर, शमशाद खान  । प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया का जिले में पहला धरना-प्रदर्शन फ्लाब साबित हुआ। धरना-प्रदर्शन में घोषित कार्यक्रम के मुताबिक भीड़ भी नहीं जुट सकी। कुछ कार्यकर्ताओं के साथ ही नेताओं ने नहर कालोनी परिसर में धरना देकर हुंकार भरी। तत्पश्चात जुलूस की शक्ल में नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे और जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल को पन्द्रह सूत्रीय ज्ञापन भेजकर सभी समस्याओं का शीघ्र निराकरण कराये जाने की मांग की। 
नहर कालोनी परिसर में बुधवार को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया द्वारा धरना-प्रदर्शन का आयोजन किया गया। धरने में मुख्य अतिथि के रूप में लोकसभा प्रभारी सर्वेश कटियार ने शिरकत की। धरने की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष जगनायक सिंह यादव ने की। धरने में घोषणा के मुताबिक कार्यकर्ताओं की भीड़ नहीं जुट सकी। लगभग दो सौ कार्यकर्ताओं ही धरने में आये। लोकसभा प्रभारी ने धरने को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों के चलते देश बहुत ही खतरनाक मोड़ पर पहुंच गया है। देश और प्रदेश में काबिज साम्प्रदायिक फांसीवादी सरकारों की तानाशाही को कार्यवाहियों से एक ओर देश के संघीय लोकतांत्रिक ढांचे को ध्वस्त करने का दुस्साहस हो रहा है। दूसरी ओर प्रदेश के राम मंदिर जैसे मुद्दों को आधार बनाकर साम्प्रदायिक उन्माद की कार्यशाला बनाने की कोशिश की जा रही ह। जनता की मौलिक समस्याओं से जुड़े प्रश्न गौड़ हो गये हैं। सत्ता में काबिज भाजपाई सरकार बनने के बाद जनता से किये गये वादों को दरकिनार कर साम्प्रदायिक नफरत और झूठे प्रचार के बल पर राजनीति के वातावरण को विषाक्त करने की कोशिश की। उन्होने कहा कि अहिंसा के देवता राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पुतले पर गोलियां बरसाकर राष्ट्रद्रोह का अपराध किया जा रहा है और पुलिस मामूली से अपराधियों को गिरफ्तार न करके प्रकरान्तर से प्रोत्साहन दे रही है। उन्होने कहा कि अब वक्त आ गया है जनता इसका जवाब भाजपाईयों को दे। धरने को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष जगनायक सिंह यादव ने कहा कि दिल्ली से लेकर लखनऊ तक भ्रष्टाचार चरम पर है। मोदी द्वारा प्रतिवर्ष दो करोड़ नौजवानों को रोजगार देने का वादा हवा-हवाई साबित हुआ है। 90 दिन में महंगाई समाप्त करने का वादा भी छलावा सिद्ध हुआ। किसान, नौजवान, व्यवसायी, छात्र, मजदूर, अल्पसंख्यक, दलित सभी परेशान हैं। कानून व्यवस्था की हालत चिन्ताजनक है। उन्होने कहा कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया जनता के साथ खड़ी है। धरने के पश्चात कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे और राज्यपाल को सम्बोधित पन्द्रह सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपकर मांग किया कि आवारा पशुओं का उचित प्रबन्ध किया जाये, किसान आयोग का गठन करके किसानों को अपना मूल्य तय करने का अधिकार दिया जाये, शहर में अतिक्रमण के नाम पर की गयी कार्रवाई को पांच प्रतिशत लोगों के लिए रोका जाना निन्दनीय है, पिछड़ों की जाति आधारित जनगणना कराकर उनके हकों को लूट से रोका जाये, महिलाओं की आबरू से हो रहे खिलवाड़ को बंद कराया जाये, बेरोजगारों को रोजगार या बेरोजगारी भत्ता दिया जाये, अल्पसंख्यकों के साथ हो रहे अत्याचार व पक्षपात को तत्काल बंद कराया जाये, शिक्षामित्रों के लिए केन्द्र सरकार कानून बनाकर उनका समायोजन करे, पुरानी पेंशन नीति लागू की जाये, जर्जर कानून व्यवस्था खत्म की जाये, भ्रष्टाचार पर सख्ती से रोक लगायी जाये, गरीबी हटाओ रोजगार दिलाओ, दवाई-पढ़ाई मुफ्त की जाये, आर्थिक समानता दी जाये, तेल नीति में संशोधन किया जाये। धरने का संचालन जिला महामंत्री धर्मेन्द्र सिंह भदौरिया ने किया। इस मौके पर समरजीत सिंह, युवा जिलाध्यक्ष आलोक द्विवेदी, रामजी श्रीवास्तव, रजत सिंह, प्रमोद तिवारी, केके सिंह, देवेन्द्र किशोर गौतम, रमित चैधरी, राहुल सिंह लोधी, अंकित चैधरी, अनिल कुमार, अमन तिवारी, तवस्सुमन रहमान, अफरोज, राशदा, मीना, शिफा, मनकी, निर्मला आदि मौजूद रहे। 

No comments

फाइलेरिया से बचाव

इलाज बीमारी की प्रारंभिक अवस्था में ही शुरू हो जाना चाहिए। किसी ऐसे क्षेत्र में जहां फाइलेरिया फैला हुआ है वहां खुद को मच्छर के काटने से ...