Recent comments

Breaking News

कौशल विकास से स्वरोजगार की ओर

चित्रकूट, ललित किशोर त्रिपाठी - दीनदयाल शोध संस्थान द्वारा संचालित एवं कौषल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार द्वारा वित पोषित जन षिक्षण संस्थान चित्रकूट द्वारा प्रषिक्षणार्थी सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसके मुख्य अतिथि बांदा-चित्रकूट के यषस्वी सांसद भैरों प्रसाद मिश्र रहे। कार्यक्रम का उद्घाटन भारत रत्न नानाजी देषमुख एवं पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी के तैल चित्र पर दीप प्रज्वलन एवं माल्यार्पण कर किया गया। प्रषिक्षणार्थी सम्मेलन व जन षिक्षण संस्थान के उद्देष्यों को परियोजना समन्वयक राजेन्द्र सिंह ने विस्तार से बताया कि चित्रकूट जिले में संचालित जन षिक्षण संस्थान वर्ष 2003 से ग्रामीण बेरोजगार नवयुवक एवं नवयुवतियों को जो 15 से 35 वर्ष के अंतर्गत आती हैं को विभिन्न क्षेत्रो जैसे सिलाई, कढ़ाई, ब्यूटीकल्चर, पेंटिंग, जूट क्राफ्ट आटोमोबाइल एवं टू व्हीलर रिपेरिग इत्यादि क्षेत्रों में प्रषिक्षण देने का कार्य कर रहा है। हजारों की संख्या में प्रषिक्षणोपरांत लोग अपना स्वयं का व्यवसाय कर रहे हैं। ग्रामीण स्वरोजगार प्रषिक्षण संस्थान चित्रकूट के निदेषक रामनाथ गुप्ता ने स्वरोजगार स्थापित करने में बैंकों की भूमिका पर विस्तार से प्रकाष डाला। उन्होंने मूद्रा योजना से प्रषिक्षणार्थियों को लाभ लेने के लिय प्रेरित किया। उन्होंने आरसेटी द्वारा चलाये जा रहे प्रषिक्षण कार्यक्रमों की जानकारी दी। प्रख्यात समाजसेविका श्रीमती जयश्री जोग ने प्रषिक्षणार्थियों को अपना स्वरोजगार करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति में हुनर होता है चाहे वह पढ़ा लखा हो या बिना पढ़ा लिखा। हमें अपने हुनर को अपनी हावी बनानी होगी, जुनून पैदा करना होगा तभी हम सफल उद्यमी बन पायेगें। मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए बांदा-चित्रकूट सांसद भैरों प्रसाद मिश्र ने कहा कि जन षिक्षण संस्थान का कार्य सराहनीय है मेरा हमेषा इनके कार्यक्रमों मे ंआना होता है। उन्होंने प्रषिक्षणार्थियों से कहा कि आप सभी प्रषिक्षण लेकर स्वयं के साथ दूसरों को भी मार्गदर्षन देने का कार्य करें। प्रत्येक व्यक्ति के अंदर स्वयं का एक कौषल होता है। महिलाये मुख्य रूप से खाद्य प्रसंस्करण का कार्य प्रारंभ करें, जैसे बरी, पापड, चिप्स, अचार, जैम, जैली, आटा दाल को स्थानीय स्तर में अपने उत्पादों को क्षेत्र के नाम से बाजार में उतारें। लिज्जत पापड का उदाहरण देते हुए बताया कि किस तरह स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने छोटे स्तर से कार्य प्रारम्भ किया आज पूरे देष में लिज्जत पापड के नाम से बाजार में मिलता है। आप ऊंचे सपने देखने की आदत डालिए। उन्होंने महिलाओं को आगे आने वाले चुनाव में बढ़ चढ़ कर मतदान करने के लिये प्रेरित किया कहा कि मतदान 90 प्रतिषत से कम न हो इस पर हमारा प्रयास हो। शासन की योजनाएं जैसे मुद्रा योजना, आयुष्मान योजना, प्रधानमंत्री बीमा योजना, प्रधानमंत्री कौषल विकास योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ लें। ऐसा प्रयास करें कि सुपात्र व्यक्ति ही लाभान्वित हो। स्वच्छता पर बोलते हुए कहा कि हमें न गंदगी करना है और न ही दूसरों का करने देना है। जिससे हमारा वातावरण साफ-सुथरा एवं स्वच्छ रहे। दीनदयाल शोध संस्थान के सचिव डाॅ0 अषोक पाण्डेय ने कहा कि हम गोबर जैसी नगण्य जैसे चीज से भी अपने हुनर के द्वारा अच्छे उत्पादों में परिवर्तित कर सकते हैं। महाराष्ट्र के एक व्यक्ति का उदाहरण देते हुए बताया कि उन्होंने गोबर से अनेक बहुमूल्य वस्तुएं बनायी हैं और उनकी कीमत हजारों में इससे उन्होंन अपने कौषल से अपनी विषेष पहचान बनायी है। जन षिक्षण संस्थान द्वारा आयोजित प्रषिक्षण सम्मेलन में ''कौषल विकास से स्वरोजगार की ओर'' विषय पर प्रषिक्षणार्थियों को एक दिवसीय सहभाग प्रमाण पत्र वितरित किये गये। जन षिक्षण संस्थान के निदेषक डाॅ0 रामलखन सिंह सिकरवार ने सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने बताया कि विगत 15 वर्षो में जन षिक्षण संस्थान ने 30 हजार से अधिक व्यक्तियों को प्रषिक्षण दिया है और उनमें से हजारों की संख्या में अपना स्वरोजगार कर रहे हैं। और अपने परिवार का भरण पोषण कर रहे हैं। कार्यक्रम का संचालन अनिल कुमार सिंह ने किया। अतिथियों का स्वागत मास्टर टेªनर कल्पना चैरसिया, आरती कुषवाहा, रेखा केषरवानी, आनन्द नामदेव, चांदनी केषरवानी, दया खरे द्वारा किया गया।  कार्यक्रम में प्रभाकर मिश्रा, अजय पाण्डेय, सुघर सिंह, गणेष पटेल, अनिल शुक्ला सहित 350 प्रषिक्षणार्थी एवं मास्टर टेªनर उपस्थित रहे।     

No comments

पूर्व मंत्री दद्दू प्रसाद के समर्थन से नाराज सैकड़ों लोगों ने सपा से दिया त्याग पत्र

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि ।पूर्व मंत्री दद्दू प्रसाद का समर्थन लेना सपा प्रत्याशी के लिए मंहगा साबित होने जा रहा है। पूर्व मंत्री द्वारा स...