Recent comments

Latest News

कानून व्यवस्था ध्वस्त, चरम पर है अपराध

समाजवादी पार्टी के पदाधिकारियों ने दिया धरना, निकाली अर्थी 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । शुक्रवार को समाजवादी पार्टी ने धरना दिया। इसके पूर्व कुछ सपाइयों ने प्रदेश सरकार की अर्थी तक निकाली और नारेबाजी की। धरने के दौरान सपाईयों ने कहा कि कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त है। अपराध बढ़ रहे हैं। पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार समाजवादी पार्टी के पदाधिकारियों ने अशोक स्तंभ के 
सपा के धरने में मौजूद पदाधिकारीगण 
समीप शुक्रवार को सुबह धरना दिया। पार्टी के तमाम पदाधिकारियों ने धरने को संबोधित करते हुए प्रदेश सरकार पर जमकर प्रहार किया। जिलाध्यक्ष शमीम बांदवी ने कहा कि जब से भाजपा सरकार प्रदेश की सत्ता पर आई है, तब से लेकर अब तक अपराधों का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है। कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त होकर रह गई। हत्या, लूट, डकैती और दुष्कर्म की घटनाओं में लगातार इजाफा हुआ है। सपा नेताओं ने उन्नाव रेपकांड के आरोपी विधायक को उत्तर प्रदेश से बाहर दूसरे राज्य की जेल में भेजने की मांग की। सोनभद्र जिले के जिस गांव में जमीन के लिए नरसंहार हुआ, उस जमीन पर आदिवासियों को काबिज कराते हुए उनका नाम दर्ज किया जाए। सपा नेताओं ने कहा कि किसानों को खाद-बीज महंगे दामों में मिल रहा है। इससे किसान बदहाल हंै। धरना खत्म करने के बाद पार्टी के पदाधिकारी कलेक्ट्रेट पहुंचे, वहां पर राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा। धरना प्रदर्शन के दौरान शेखर शर्मा, नगर पालिका अध्यक्ष मोहन साहू, भरत लाल दिवाकर, मनोज कुमार वर्मा, रामबाबू यादव, मनोज निगम, मुन्नीलाल, अमर सिंह यादव, कुदरत उल्ला, वृंदावन वैश्य, सलीम मंसूरी, पंकज सिंह, अमित सेठ भोलू, पुरुषोत्तम, राकेश राजपूत, शिवसागर यादव समेत दर्जनों सपाई उपस्थित रहे। 

No comments