Recent comments

Latest News

कोटद्वार : कई संगठनो ने की आरोपियों को फांसी देने की माँग, बाजार भी रहा बंद

कोटद्वार, संवाददाता । कोटद्वार आये दिन हो रहे अपराधो को रोकने में पुलिस और प्रसाशन नाकाम से दिख रहे है । माहिलाओ के साथ हर दिन कुछ न कुछ बड़ी घटनाये सामने आती है । कुछ खबरें ऐसी होती हैं, जिन पर भरोसा करना नामुमकिन सरीखा होता है । ज्यादातर ऐसी खबरें रिश्तों को शर्मसार करने वाली होती हैं, जिनके बारे में जानकर सबका सिर शर्म से झुक जाता है । देवभूमि उत्तराखंड के कोटद्वार में नाबालिग की बलात्कार के बाद निर्मम हत्या की दिलदहला देने वाली घटना सामने आने के बाद से आक्रोशित ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया और सड़क पर जाम लगाकर हत्यारों को फांसी की सजा देने की बात कही और बाजार बंद करवाया साथ ही दस लाख रूपये के मुआवजे की मांग भी की गई ।

मासूम की हत्या के बाद आरोपियों ने मासूम के टुकड़े कर दिए थे जिसके बाद पुलिस ने बुधवार को आरोपियों को गिरफतार कर लिया था.  मुख्य आरोपी पदम और अशोक पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं। मासूम के हत्यारों को सख्त से सख्त सजा दिलाने के खातिर पूरा कोटद्वार एकजुट होता दिख रहा है। सबकी एक ही मांग है कि दस वर्षीय मासूम बच्ची को न्याय मिले और आरोपितों को जल्द फांसी हो। इसके लिए सोशल मीडिया पर भी मुहिम छिड़ी हुई है। आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग को लेकर कई सामाजिक संगठनों व स्थानिय लोगों ने जुलूस निकालकर शहर के दुकान-प्रतिष्ठान बंद कर विरोध जताया।

कोटद्वार  में मासूम की हत्या के मामले ने तूल पकड़ लिया है। बच्ची के साथ दुष्कर्म कर निर्मम हत्या के बाद लोगों को आक्रोश फूट पड़ा है। लोग सड़कों पर उतर आए हैं। सभी बच्ची के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं। अनहोनी की आशंका के बीच प्रशासन ने इलाके में भारी पुलिस बल को तैनात किया है।रौंगटे खड़े करने देने वाली वारदात के खिलाफ कोटद्वार में हिंदू संगठनों विश्व हिंदू परिषद,अंतर्राष्ट्रीय हिंदू परिषद ,पूर्व सैनिक सेवा परिषद के लोग भी सड़कों पर उतरे और मुस्लिम समाज भी। उन्होने पीडित परिवार को दस लाख रूपये मुआवजे देने की बात भी कही । विश्वविघालय के एनसीसी छात्र- छात्राओं व विघालयी छात्रो ने भी आरोपियों को सूली पर चढ़ाने की मांग की।

गाडीघाट में बच्ची की रेप व हत्या के आरोपितों को मिले फांसी : सुरेन्द्र सिंह नेगी
कोटद्वार में पूर्व कबीना मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी ने कहा कि गाडीघाट में बच्ची का बलत्कार व निर्मम हत्या करने वालों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। यह ऐसा जघन्य अपराध है, जिसे क्षमा नहीं किया जा सकता। ऐसे आरोपितों का केस लडऩे से अधिवक्ता भी दूरी बनाएं रहें। उन्होने कहा जब तक बच्ची को न्याय नहीं मिला तब तक धरना जारी रहेगा ।

घटना क्रूरता की परिचायक - रंजना रावत
कोटद्वार में मासूम बेटी के साथ हुई दर्दनाक घटना क्रूर मानसिकता का परिचायक है। उन्होंने कहा कि आरोपितों को जल्द सजा दिलाने के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाया जाना चाहिये ।

साभार - www.liveskgnews.com

No comments