Recent comments

Latest News

दहेज लोभी ससुरालीजनों ने बहू को घर से निकाला

पीड़िता ने एसपी से की शिकायत, न्याय दिलाने की गुहार 
तीन लाख रुपया दहेज की मांग कर रहे ससुरालीजन 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । महिला हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। पूरे रीतिरिवाज के साथ शादी कर बहू को अपने घर लाने के बाद दहेज लोभी दहेज के लिए सितम करना शुरू कर देते हैं। एक विवाहिता को ससुरालीजनों 
पुलिस अधीक्षक से शिकायत करने आई पीड़िता और उसके परिजन
ने मायके से दहेज लाने के लिए घर से निकाल दिया। पीड़िता ने एसपी से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है। 
मिली जानकारी के अनुसार तिंदवारी थाना क्षेत्र के माचा गांव निवासी चित्रा पुत्री राजाराम ने शुक्रवार की सुबह पुलिस अधीक्षक को दिए गए शिकायती पत्र में बताया है कि 26 अप्रैल 2018 को गिरवां थाना क्षेत्र के निहालपुर गांव निवासी राजकिशोर शुक्ला के साथ शादी हुई थी। शादी के बाद 4 दिन के अंदर ही सास और पति दहेज में तीन लाख रुपया और मोटरसाइकिल मांग की जाने लगी। विरोध करने पर यह कहा गया कि मध्यस्थ के द्वारा दहेज दिलाने की बात कही गई थी। लेकिन अभी तक दहेज नहीं मिला है। चित्रा ने पुलिस अधीक्षक को बताया कि ससुराल के लोगों ने उसके पूरे सोने चांदी के जेवर रख लिया और उसे घर से मायके भेज दिया। मायके जाकर उसने अपने माता पिता से पूरी बात बताई। माता-पिता ने शादी कराने वाले व्यक्ति से बात की और ससुरालीजनों को समझाया। किसी तरह से मामला शांत हो गया और चित्रा फिर से लौट कर अपनी ससुराल आ गई। तकरीबन एक पखवारे बाद फिर से चित्र की सास अपनी बहू से से मायके जाकर दहेज लाने की बात कहने लगी। चित्रा ने इस बात की शिकायत अपने पति राजकिशोर शुक्ला से की तो पति भी अपनी मां की तरह ही बर्ताव करने लगा। आखिरकार ससुरालीजनों ने चित्रा को एक जोड़ी कपड़ों में ही घर से बाहर निकाल दिया। चित्रा ने पुलिस अधीक्षक को बताया कि उसने अपने भाई को सूचना दी। भाई मौके पर पहुंचा और बहन को लेकर अपने घर चला आया। चित्रा ने पुलिस अधीक्षक को बताया कि उसका पति राजकिशोर हिमांचल प्रदेश में अपने मालिक के यहां किसी लड़की के साथ रहता है। पीड़िता चित्रा की बात सुनकर पुलिस अधीक्षक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए संबंधित थाना पुलिस को जांच करते हुए सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

No comments