Recent comments

Latest News

दस वर्ष पूरे होने पर योग साधकों का सम्मेलन आयोजित

फतेहपुर, शमशाद खान । भारत स्वाभिमान न्यास एवं पतंजलि योग समिति के तत्वाधान में जिले में योग के दस वर्ष पूरा होने पर योग साधकों का एक सम्मेलन शहर के एक मैरिज हाल में आयोजित किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में योग साधकों ने शिरकत की। सम्मेलन में योग शिक्षकों को ज्ञान देते हुए प्रमाण पत्र वितरित किये गये। सम्मेलन में दूर दराज से आये योग साधकों व शिक्षकों को अभूतपूर्व योग विद्या की विस्तार से जानकारी भी दी गयी। 
सम्मेलन में मंचासीन अतिथि।  
बाबा रामदेव के शिष्य स्वामी परमार्थ देव केन्द्रीय प्रभारी राकेश, राज्य प्रभारी भगवान सिंह, संदेश, दुर्गेश, अचल, हरिपूर्ति व जिले के श्रीकृष्ण आर्य, कमलेश, राजेश, प्रदीप अग्रवाल, रवीन्द्र, रीतू सहित पुराने व नये साधकों के सम्मेलन में योग विद्या से होने वाले लाभ की बाबत बताया गया। सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए स्वामी परमार्थ ने योग के गूढ़ एवं रहस्यमई ज्ञान को प्रदत्त किया। राकेश ने योग एवं स्वदेशी के सम्बन्ध में पतंजलि योग पीठ द्वारा चलाये जाने वाले शिक्षा संबंधी, वैदिक शिक्षा, सांस्कृतिक गरिमामयी संस्कृत पर रोशनी डाली। दुर्गेश ने सभी योग शिक्षकों को ज्ञान देते हुए प्रमाण पत्र वितरित किये। सम्मेलन में भगवान ने योग के सतत अभ्यास करने पर असाध्य बीमारियों से मुक्त होने की विद्या बतायी। एसपी दीक्षित ने योग साधकों के मिलन पर जिले के लिए अभूतपूर्व कार्यक्रम बताते हुए हर्ष व्यक्त किया। इस मौके पर मुख्य रूप से योग साधकों के सम्मान में अपर जिलाधिकारी अच्छेलाल, चन्द्रभान शास्त्री, श्रीचन्द्र आर्य, गंगाराम, विभव मान सिंह, लाल बहादुर शास्त्री, अवधेश के साथ ओम घाट के स्वामी विज्ञानानन्द जी महाराज का अभिनन्दन किया गया। परमार्थ देव ने अपने सम्बोधन में बताया कि पवित्र भूमि से मेरा जन्म सार्थक होता है कि जिस तरह से इस भूमि से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी जोधा सिंह अटैया, दरियाव सिंह, बाबू दीप नारायण सिंह क्रान्तिकारियों के साथ कलम के सिपाही गणेश शंकर विद्यार्थी एवं स्वामी विज्ञानानन्द व परमानन्द जी की परम्परा को आगे बढ़ाने का कार्य करते हुए अपने को धन्य समझता हूं। वक्ताओं ने बताया कि 192 देशों में योग कक्षाओं का संचालन एवं स्वदेशी वस्तुओं की उपलब्धता के साथ ही वैदिक संस्कृत को आगे बढ़ाने का काम समिति द्वारा किया जा रहा है। राज्य प्रभारी पूर्व न्यायाधीश भगवान ने योग गुरू रामदेव के कृतित्व पर प्रकाश डाला। इस मौके पर भुवन भास्कर, संजय गुप्ता, बाबा राम सनेही, संजय सचान, विष्णु दयाल, यशवंत सिंह, सूर्यपाल, गोपाल साहू, राजेश पटेल, इन्द्रपाल साहू, जय कुमार, आदर्श ओमर, सुधा पुरवार, अजय रस्तोगी आदि मौजूद रहे। इससे पूर्व विवेकानन्द विद्यालय की छात्राओं ने सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत प्रस्तुत किया। सम्मेलन का संचालन प्रदेश सह प्रभारी दुर्गेश प्रसाद ने किया। सम्मेलन को सफल बनाने में सरदार बल्लभ भाई पटेल फाउण्डेशन के पदाधिकारियों ने भरपूर सहयोग दिया। 

No comments