Recent comments

Latest News

ताकि इन्हें भी मिल सके परिवार जैसा प्यार

वृद्धजनों को राखी बांधकर बहनों ने पोछे आंसू 
नरैनी रोड में वृद्धाश्रम में आयोजित हुआ रक्षाबंधन कार्यक्रम 

बांदा, कृपाशंकर दुबे  । हमें तो अपनो ने लूटा, गैरों में कहां दम था। हमारी कश्ती भी वहीं डूबी, जहां पानी कम था। अपने जिगर के टुकड़ों को सीने से चपेटकर अच्छी नींद दिलाने वाले माता-पिता आज वृद्ध आश्रम में रहकर अपने जीवन के दिन गुजार रहे हैं। दर्द तो उनके सीने में इतना सिमटा हुआ है कि अगर बाहर आ गया तो किसी कयामत से कम नहीं होगा। ऐसे बुजुर्गों का दर्द साझा करने के लिए तमाम महिलाएं आश्रम पहुंची और बुजुर्गों को राखी बांधकर उनके आंसू पोछने का काम किया। बेचारे बुजुर्ग भावुक हो गए और फफक कर रो पड़े। 
वृद्धाश्रम में वृद्धजनों को राखी बांधती महिलाएं 
नरैनी रोड स्थित वृद्धाश्रम में क्षत्रिय महासभा की महिलाओं ने बुधवार को वृद्ध आश्रम में वृद्धों के साथ रक्षाबंधन की खुशी को साझा किया। राखी बांधने के बाद फल और मिठाइयां खिलाईं और उनका आशीर्वाद लिया। इस अपनेपन से वृद्धाश्रम में मौजूद कई वृद्धों की आंखें छलक गईं। वहीं दूसरी तरफ राखी बांधती हुई महिलाएं भी भावुक नजर आईं। वहां पर मौजूद मीडिया कर्मी नजरे आलम और अशरफ खान को भी मीडिया कर्मियों ने राखी बांधी। इधर, परिवार और समाज से उपेक्षित इन वृद्धों को खुशी के कुछ पल मिले जिसे पाकर इन वृद्धों के चेहरे खिल उठे। इन महिलाओं ने वृद्धों को फल बांटे राखी बांधी और मिठाई खिलाई इसके बाद उन बुजुर्गों का आशीर्वाद लिया आज क्षत्रिय महासभा की महिला प्रकोष्ठ की तरफ से वृद्धा आश्रम में यह आयोजन किया गया, जिसमें महासभा की पदाधिकारी महिलाएं मौजूद रही। इनके साथ हीरा सिंह भदौरिया राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, अनीता सिंह चैहान जिला अध्यक्ष, सोनम सिंह रघुवंशी जिला महासचिव, अंशु सिंह चैहान जिला कोषाध्यक्ष, रीना सिंह बुंदेलखंड महासचिव, सीता सिंह मंडल अध्यक्ष, सावित्री सिंह सिसोदिया बुंदेलखंड अध्यक्ष, कुलदीप सिंह चैहान नरेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे। सभी सदस्यों ने कहा उन लोगों का उद्देश्य है कि जो लोग परिवार से बहिष्कृत हैं, उन्हें परिवार का प्यार दे सकें। साथ ही यह भी कहा कि वृद्धाश्रम की जड़ को ही खत्म करने का काम करना है। 

No comments