Recent comments

Latest News

किसानों ने उठाना है कर्जा नहीं चुकाना है

बुंदेलखंड किसान यूनियन ने गुरुवार को भर दी कलेक्ट्रेट
वसूली तत्काल प्रभाव से बंद कराने और अन्ना मवेशियों से निजात दिलाने की मांग
बिजली आपूर्ति व्यवस्था ध्वस्त होने से सूख रही धान की पौध नहीं चल पा रहे निजी और सरकारी नलकूप

बांदा, कृपाशंकर दुबे । पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार गुरुवार को बुंदेलखंड किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने कलेक्ट्रेट में जोरदार प्रदर्शन किया। राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा ने कहा कि वसूली तत्काल प्रभाव से बंद कराई जाए इसके साथ ही अन्ना मवेशियों से निजात दिलाती हुई बिजली आपूर्ति व्यवस्था को दुरुस्त किया जाए। चेतावनी दी है कि अगर कोई भी राजस्व कर्मचारी वसूली के लिए गांवों में पहुंचा तो उसे सबक सिखाने में कोई गुरेज नहीं किया जाएगा।
कलेक्ट्रेट से चिल्ला रोड पावर हाउस के लिए रवाना होते किसान 
बुंदेलखंड किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा ने कहा कि किसानों की समस्या का समाधान नहीं किया जा रहा है। सरकारी महज आश्वासन और घोषणाएं करके अपने कर्तव्य की इतिश्री कर रही है। अन्नदाता कलाकार घूम रहा है। कहीं पानी नहीं मिल रहा है तो कहीं धान की बेल सूख रही है और कहीं राजस्व कर्मचारी वसूली के लिए गांव में पहुंच रहा। श्री शर्मा ने कहा कि बिजली विभाग ग्रामीण क्षेत्रों की आपूर्ति को अनवरत जारी नहीं रख पा रहा है। इससे किसानों की न तो निजी ट्यूबेल चल पा रहे हैं और ना ही सरकारी ट्यूबवेल से ही किसानों को पानी मिल रहा है। नहरों में पानी नहीं है किसान परेशान है अन्ना मवेशी पलभर में ही फसलों को बर्बाद कर देते हैं। गौशालाओं के नाम पर अधिकारी सिर्फ कागजी कार्रवाई कर रहे हैं हकीकत में जमीनी स्तर पर कुछ भी नजर नहीं आ रहा है। नाराज एक सैकड़ा से ज्यादा बुंदेलखंड किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने कलेक्ट्रेट में जमकर नारेबाजी करते हुए अधिकारियों को चेतावनी दी है कि वह अपनी कार्यप्रणाली में सुधार करें वरना ईंट से ईंट बजा दी जाएगी। राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा ने तत्काल प्रभाव से वसूली बंद किए जाने अन्ना प्रथा से निजात दिलाए जाने और ग्रामीण क्षेत्र की बिजली आपूर्ति तत्काल अनवरत जारी कराए जाने की मांग की। इस मौके पर सैकड़ों की संख्या में किसान मौजूद रहे। कलेक्ट्रेट में मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपने के बाद किसानों का काफिला चिल्ला रोड स्थित पावर हाउस के लिए रवाना हो गया वहां पर भी बिजली विभाग के अधिकारी को ज्ञापन देकर बिजली आपूर्ति तत्काल प्रभाव से सुधारे जाने की मांग की जाएगी। बुंदेलखंड किसान यूनियन के बैनर तले सैकड़ों की समस्या में किसान चिल्ला रोड स्थित पावर हाउस पहुंचे। वहां पर किसानों के पहुंचते ही बिजली अधिकारियों और कर्मचारियों की धड़कनें तेज हो गईं। किसानों ने बिजली विभाग के अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की बिजली आपूर्ति हर हाल में बहाल रखी जाए। ताकि किसान अपनी धान की फसल को बो सकें। बिजली आपूर्ति ठप रहने के कारण किसान बेहद परेशान है और सरकारी समेत निजी ट्यूबवेल भी नहीं चल पा रहे हैं। पावर हाउस में वरिष्ठ विद्युत अधिकारी को अपनी समस्याओं का ज्ञापन सौंपते हुए कार्रवाई की मांग की है। चेतावनी दी है कि अगर किसानों की समस्या को ध्यान में रखते हुए बिजली आपूर्ति में सुधार नहीं किया गया तो बिजली अधिकारियों की खैर नहीं होगी। सुरक्षा के लिहाज से नगर कोतवाली प्रभारी बलजीत सिंह के अलावा सिविल लाइन चैकी प्रभारी प्रमोद और पुलिस फोर्स तैनात रही। हालांकि किसानों ने नारेबाजी करते हुए शालीनता के साथ ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर किसान नेता लक्ष्मीकांत संगठन प्रभारी, प्रवक्ता चतुर्भुज पटेल, सचिव अखिलेश रावत, कोषाध्यक्ष राकेश साहू, बुंदेलखंड प्रभाीर बालाजी, प्रदेश अध्यक्ष प्रहलाद करवरिया, प्रदेश सचिव लक्ष्मी प्रसाद मिश्र, प्रदेश प्रवक्ता उमा सिंह, प्रदेश अध्यक्ष महिला मोर्चा किरन पाठक के अलावा सैकड़ों किसान मौजूद रहे।

No comments